ममता ने कहा, पार्टी सर्वोपरि, लालच की कोई जगह नहीं

‘धान में अगर एक कीड़ा लगता है तो पूरे कीड़े का विनाश करना पड़ता है’
मुख्यमंत्री का कड़ा संदेश – पहले कहेंगे सुधर जायो, नहीं माना ताे जो करना है करेंगे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पार्टी को लेकर हमेशा बेहद सतर्क रहने वाली मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भ्रष्टाचार की हजारों शिकायतों के बाद सक्रिय नजर आ रही है। खासकर विभिन्न चुनावों से पहले राज्य में सत्ताधारी तृणमूल ने अपने ही कार्यकर्ताओं और नेताओं को चेतावनी दी है। कभी सीधे तौर पर तो कभी तरह-तरह की उपमाओं के साथ। सीएम ने कहा कि पार्टी सर्वोपरि है। इससे उपर कोई नहीं है। मैं भी नहीं हूं। एक सवाल के जवाब में ममता ने कहा कि लालच के लिए कोई जगह नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि धान में अगर कीड़ा लग जाए तो उसे पूरी तरह नष्ट न करें, बल्कि उस कीड़े को हटा दे वरना पूरे धान में कीड़े लग जाएंगे। उसी तरह अगर कोई मामला आता है तो पहले उसे सुधारने के लिए कहेंगे अगर फिर भी नहीं माने तो हमें जो करना है करेंगे।
साल की शुरुआत में सोमवार को पार्टी के विभिन्न स्तरों के प्रतिनिधियों के साथ नज़रुल मंच में एक विशेष सम्मेलन हुआ। वहां ‘दीदीर सुरक्षा कवच’ नाम के कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद बोलते हुए ममता बनर्जी ने पार्टी के बारे में काफी कुछ कहा। इनमें धान के कीड़ों का मुद्दा विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। उनके इस बयान के बाद राजनीतिक हलकों में कयासों का दौर शुरू हो गया है। उन्होंने धान का उपमा देकर वास्तव में किसे निशाना बनाया? कई के अनुसार, वह पार्थ चटर्जी हैं। तो कई कह रहा है कि केवल पार्थ ही नहीं बल्कि पार्टी के तमाम नेता जिन पर अलग-अलग जगहों से भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, मुख्यमंत्री का यह कठोर संदेश सभी के लिए था।

Visited 71 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Mahashivratri 2024 Puja Samagri: महाशिवरात्रि में शिवजी की पूजा सामग्री की पूरी लिस्ट, यहां देखें

कोलकाता : महाशिवरात्रि का पर्व भगवान शिव को समर्पित हिंदू धर्म का महत्वपूर्ण पर्व है। इस दिन भगवान शिव की पूजा-अर्चना की जाती है और आगे पढ़ें »

IND vs PAK T20 World Cup: भारत-पाकिस्तान मैच के टिकट का दाम सुनकर चौंक जाएंगे

नई दिल्ली: न्यूयॉर्क में होने वाले ICC टी-20 विश्वकप में भारत और पाकिस्तान की टीमें भिड़ेंगी। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) अमेरिका में क्रिकेट को बढ़ावा आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!