मकर संक्रांति आज रात से, पुण्य स्नान कल सुबह

लाखाें लोगों ने लगायी डुबकी, सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था
ममता सरकार की जय-जयकार
सन्मार्ग संवाददाता
गंगासागर : आज यानी शनिवार की रात से मकर संक्रांति चालू होगी। वहीं कल यानी रविवार को सुबह से पुण्य स्नान का समय है। इधर, गंगासागर में पुण्य स्नान के लिए अब तक लाखों श्रद्धालु आ पहुंचे हैं। शुक्रवार को भी लाखों तीर्थयात्रियों ने गंगासागर में डुबकी लगायी। मेला परिसर में सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गयी है। इसके साथ ही यहां आने वाले तीर्थयात्री प्रशासनिक व्यवस्था से खुश होकर ममता सरकार की जय-जयकार कर रहे हैं।
शुक्रवार को संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मंत्री अरूप विश्वास ने कहा कि गंगासागर मेला भारत का सबसे बड़ा मेला है। सोशल मीडिया के माध्यम से ई दर्शन, ई स्नान और ई पूजा की व्यवस्था की गई है। ई दर्शन 40. 7 लाख, ई स्नान 1834 और ई पूजा 10.5 लाख लोगों ने किया है। उन्होंने कहा कि राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर मकर संक्रांति के पुण्य स्नान के समय सुरक्षा के बाबत समुद्र तट के बराबर 33 हाई मास्ट लाइट और 90 अतिरिक्त लैंप पोस्ट लाइट की व्यवस्था की गई है। तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए 14 हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। यह पिछले साल की तुलना में कुछ अधिक संख्या में बैरिकेड, पुलिस, वॉच टावर का निर्माण किया गया है।
केंद्रीय टीमें भी रही तैनात
डिजास्टर मैनेजमेंट एंड सिविल डिफेंस एनडीआरएफ, नेवी, इंडियन कोस्ट गार्ड, डब्ल्यूबीसीएएफ जैसी केंद्रीय टीमें भी तीर्थयात्रियों की सुरक्षा में जुटी हुई हैं। तीर्थ यात्रियों को जानकारी देने के लिए सूचना केंद्र के माध्यम से बांग्ला, हिंदी, मराठी, उड़िया, तमिल तेलुगु, इंग्लिश, भोजपुरी और मैथिली भाषा में माइकिंग की जा रही है। तीर्थ यात्रियों के बीच गंगासागर मेले में जागरूकता को लेकर लीफलेट प्रदान किए जा रहे हैं। गंगासागर मेले में आने वाले तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए इस बार पीटीएमएस यानी कि पिलग्रिम ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया गया है। इसके तहत हर वाहनों में जीपीएस ट्रैकिंग के द्वारा गंगासागर के कंट्रोल रूम से निगरानी की जा रही है।
मूड़ी गंगा नदी में ड्रेजिंग की व्यवस्था सही समय पर होने से 22 घंटे दिन रात वेसल चलाये जा रहे हैं। तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए 2250 बस , 5 बारज, 34 वेसल और 100 लांच की व्यवस्था की गई है। तीर्थ यात्रियों को कोई असुविधा ना हो इसके लिए सुंदर यात्री निवास का बंदोबस्त किया गया है । 21 जाइंट स्क्रीन के माध्यम से मेला प्रांगण के विभिन्न कार्यक्रमों का लाइव टेलिकास्ट किया जा रहा है। गंगासागर को प्लास्टिक मुक्त रखने के लिए प्लास्टिक कपड़ा से बने बैग, थैला बाटी और ग्लास लोगों में वितरित किए गये।
तीन तीर्थयात्रियों को किया गया एयर लिफ्ट : गंगासागर मेले के शुरू होने से अब तक 3 तीर्थयात्रियों को कोलकाता के लिए एअरलिफ्ट किया गया है। इसमें 12 जनवरी को चंद्रवती वर्मा (37) उत्तर प्रदेश, 13 जनवरी रूपा शाही 56 , नेपाल और देवरानी मंडल (65) गौसाबा साउथ 24 परगना के रहने वाली है। वही गंगासागर मेले में महाराष्ट्र से आई तीर्थयात्री आशा अशोक कोरेयार (77) की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई।
गंगासागर मेले में 12 पॉकेट मारी की घटनाएं घटी जिनमें से 10 मामलों में बरामदगी हुई। नकद 30,725 बरामद किए गए हैं। 29 लोग विभिन्न मामलों में गिरफ्तार हुए हैं। गंगासागर मेले में आकर्षण का केंद्र बैंगलोर मंदिर और महासागर आरती है। बंधन के तहत सागर संगम में आने वाले पुण्य स्नान करके लौट रहे लोगों में करीब 234350 तीर्थयात्रियों के बीच प्रमाण पत्र वितरित किए गए हैं जिनमें तीर्थयात्रीयों की फोटो लगी हुई है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

मंगलवार को 11 पीपल के पत्तों से ऐसे करें …

कोलकाताः हिंदू धर्म में मंगलवार का दिन सबसे शुभ दिन में से माना जाता है। इस दिन हनुमान जी की पूजा की जाती है। भगवान आगे पढ़ें »

मैं कोलकाता में ही हूं, ईडी कार्यालय में फोन कर कहा ​अभियुक्त गोपाल दलपति ने

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मैं कोलकाता में हूं, मैं ईडी के समक्ष पेश होना चाहता हूं। एसएससी मामले के अभियुक्त गोपाल दलपति ने ईडी कार्यालय में आगे पढ़ें »

ऊपर