पश्चिम बंगाल में सड़कों पर उतरे लेफ्ट कार्यकर्ता- कोलकाता में रेलवे ट्रैक ब्लॉक

कोलकाताः पश्चिम बंगाल में ट्रेड यूनियनों ने सरकारी नीतियों के विरोध में आज और कल राष्ट्रव्यापी हड़ताल और बंद का आह्वान किया है। रिपोर्ट के अनुसार, भारत बंद का आह्वान केंद्र सरकार की उन नीतियों के खिलाफ किया जा रहा है, जिनसे कर्मचारी, किसान और आम जनता प्रभावित हो रही है। राष्ट्रव्यापी हड़ताल और बंद के मद्देनजर प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में जादवपुर रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है।

इन क्षेत्रों में दिख रहा बंद का असर

खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, भारत बंद का असर बैंक, रेलवे-सड़क परिवहन और बिजली जैसी सेवाओं पर पड़ता दिख रहा है। सेंट्रल ट्रेड यूनियन ने एक बयान जारी किया है। बयान के मुताबिक, केंद्रीय ट्रेड यूनियनों और क्षेत्रीय संघों ने हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली में एक मीटिंग की थी। बैठक में भारत बंद की तैयारियों का जायजा लिया गया था। यूनियन के अनुसार, मोदी सरकार की जनविरोधी और राष्ट्र विरोधी नीतियों के खिलाफ भारत बंद बुलाया गया है।

हावड़ा में दिख रहा बंद का असर

* देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरियाणा में हड़ताल का असर दिख रहा है। यहां पर हड़ताल की वजह से 3 हजार बसों की रफ्तार थम गई है। बता दें कि हरियाणा में कई मांगों को लेकर रोडवेज कर्मचारी लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, पुरानी पेंशन बहाली, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना और निजीकरण के खिलाफ बंद बुलाया गया है। हरियाणा में कर्मचारियों ने बंद का पूरा समर्थन किया है।

* पश्चिम बंगाल के हावड़ा में भारत बंद का असर दिखा रहा है। अलग-अलग जगहों पर वामपंथी संगठनों ने बाजार और अन्य सेवाएं भी बंद कर दी हैं। कहा जा रहा है कि बंद का प्रभाव उन इलाकों में खास तौर पर देखने को मिलेगा, जहां वामपंथियों की पकड़ मजबूत है।

* ट्रेड यूनियनों ने सरकारी नीतियों के विरोध में आज और कल राष्ट्रव्यापी हड़ताल तथा बंद का आह्वान किया है। केरल के तिरुवनंतपुरम सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। यहां पर बस ऑटो कुछ नहीं चल रहे हैं। यहां पर एक व्यक्ति ने बताया कि हड़ताल और बंद के आह्वान से मुझे अपने ऑफिस जाने में दिक्कत हो रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज से कोलकाता में चलेगी डबल डेकर बस

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गा पूजा के समय काफी लोग पूजा पण्डालों की भीड़ में नहीं जाना चाहते हैं। हालांकि दुर्गा पूजा के समय का कोलकाता आगे पढ़ें »

ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, खुल जाएंगे किस्मत के दरवाजे

कोलकाता : शारदीय नवरात्रि के नौ दिनों का अपना अलग महत्व है। इन 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग स्वरूपों की पूजा बड़ी ही आगे पढ़ें »

ऊपर