एक दिन में 5 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा कोलकाता का तापमान

51 वर्षों में इस बार हो सकती हैै सबसे गर्म संक्रांति

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : आज मकर संक्रांति है, लेकिन इससे पहले ही कोलकाता से ठण्ड विदा होती दिख रही है। इस बार गत 51 वर्षों का रिकॉर्ड टूट रहा है और आज सबसे गर्म मकर संक्रांति रहने की संभावना है। इससे पहले वर्ष 2000 में मकर संक्रांति के दिन कोलकाता का न्यूनतम तापमान 18.8 डिग्री सेल्सियस था। पिछले 4 दिनों से कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के विभिन्न जिलों का तापमान लगातार बढ़ रहा है। शनिवार को भी ऐसा ही देखा गया। गत शुक्रवार की तुलना में शनिवार को यानी एक दिन में ही कोलकाता का तापमान 5 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ गया। गत शुक्रवार को कोलकाता का न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस था जबकि शनिवार को यह बढ़कर 19.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। शनिवार को कोलकाता का न्यूनतम तापमान स्वाभाविक से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। वहीं कोलकाता का अधिकतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस पर जा पहुंचा जो स्वाभाविक से 2 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। शनिवार की सुबह कोलकाता के आसमान में बादल थे, लेकिन दिन बढ़ने के साथ ही धूप खिल उठी। फिलहाल बारिश की कोई संभावना मौसम विभाग की ओर से नहीं जतायी गयी है। कोलकाता के अलावा दक्षिण बंगाल के जिलों में भी तापमान बढ़ा है। बांकुड़ा, बर्दवान, पुरुलिया, पश्चिम मिदनापुर जैसे जिलों में तापमान लगभग 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा है। हालांकि उत्तर के कई जिलाें में तापमान में हेरफेर नहीं हुआ है। कुछ जिलों का तापमान कुछ कम होने पर भी अब भी कर्सियांग व दार्जिलिंग जैसे जिलों में कड़ाके की ठण्ड जारी है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में कोलकाता के अलावा द​क्षिण बंगाल के जिलों में भी तापमान बढ़ेगा। पश्चिमी हवाओं के कारण उत्तरी हवाएं कमजाेर हुई हैं जिससे तापमान बढ़ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अचला सप्तमी के दिन करें ये उपाय, सूर्य देव की कृपा से मान-सम्मान और धन में होगी वृद्धि

कोलकाताः इस साल 28 जनवरी 2023 को अचला सप्तमी मनाई जा रही है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल माघ माह में शुक्ल पक्ष की आगे पढ़ें »

हाते खोड़ी कार्यक्रम के बाद ही दिल्ली पहुंचे राज्यपाल

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से हुए शामिल, पीएम मोदी को सराहा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : राज्यपाल डॉ. सी.वी. आनंदा बोस गुरुवार को हाते आगे पढ़ें »

ऊपर