रेड पर जाने वाले पुलिस कर्मियों के लिए कोलकाता पुलिस ने तय की खर्च की सीमा

कोलकाता पुलिस की ओर से जारी की गयी एसओपी
होटल, फूड व वाहन के‌ लिए मिलेगा रुपया
सभी थानों और डीडी ‌विभाग में भेजा गया फॉर्म
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पुलिस की कार्यपद्धति में पारदर्शिता लाने के लिए कोलकाता पुलिस की ओर से दूसरे राज्य व शहर में रेड पर जाने वाले पुलिस ऑफिसर और कर्मियों के लिए खर्च की सीमा तय की गयी है। किस तरह और कितने रुपये खर्च करने होंगे, इसे लेकर कोलकाता पुलिस की ओर से एक एसओपी हाल ही में जारी हुआ है। शहर के सभी पुलिस स्टेशन और डीडी विभाग के अधिकारियों को एसओपी भेजा गया है। पुलिस के अनुसार किसी भी मामले की जांच या फिर सुनवाई के खर्च को नियंत्रित करने के लिए एसओपी बनाया गया है। एसओपी में कहा गया है कि पुलिस की टीम कोलकाता से दूसरे राज्य में जाने पर और वहां से अभियुक्त को गिरफ्तार कर कोलकाता लाने के लिए वाहन किराये पर ले सकती है। किराये के वैगन में अभियुक्त को कोलकाता लाया जा सकता है। प्राइवेट वाहन के अलावा पुलिस कर्मी ऐप कैब के जरिए भी अभियुक्त को ला सकते हैं। वाहन क‌िराये के तौर पर पुलिस कर्मियों को रोजाना के 5 हजार रुपये दिए जाएंगे। ‌इसके अलावा बंगाल और आसपास के जिलों में रेड पर जाने वाले कोलकाता पुलिस के कर्मियों को सरकारी वाहन मिल सकता है। इस क्षेत्र में दूरी अधिकतम 500 किमी. होनी चाहिए। इस मामले में कोलकाता पुलिस के ट्रांसपोर्ट सेक्शन की ओर से तेल की व्यवस्था की जाएगी। अगर दूरी अधिक होती है या फिर सरकारी वाहन न मिले तब जाकर किसी प्राइवेट कंपनी के वाहन को किराये पर लिया जा सकता है, लेकिन इसके लिए दो से ज्यादा वाहन किराये पर नहीं लिये जा सकते हैं। प्रत्येक वाहन के लिए रोजाना के किराये के तौर पर 5 हजार रुपये खर्च करने होंगे, लेकिन इस रुपये के बाद पुलिस कर्मियों को अत‌िरिक्त ट्रै‌‍वलिंग एलाउंस नहीं मिलेगा। जरूरत पड़ने पर विमान या ट्रेन से सफर करने पर उसके ट‌िकट को टीम लीडर के पास जमा करना होगा।होटल में ठहरने के लिए मिलेगा 2 हजार रुपयेकोलकाता पुलिस के अधिकारियों ने निर्देश दिया है कि किसी भी मामले की जांच के लिए दूसरे राज्य में जाने वाले पुलिस कर्मी पहले सरकारी गेस्ट हाउस में कमरे की तलाश करेंगे। वहां पर कमरा नहीं मिलने पर उन्हें प्राइवेट गेस्ट हाउस या होटल में रात गुजारना होगा । प्राइवेट होटल में ठहरने पर एक कमरे में दो पुलिस कर्मी रुकेंगे । इसके लिए उन्हें 2 हजार रुपये दिया जाएगा। वहीं सरकारी गेस्ट हाउस के कमरे के लिए 1 हजार रुपये दिया जाएगा। रेड पर जाने वाले पुलिस कर्मियों के भोजन और पानी के लिए रोजाना 300 रुपये दिए जाएंगे। अभियुक्त के लिए भी सामान खर्च ही दिया जाएगा। अभियुक्त या पुलिस टीम के सदस्य बीमार पड़ने पर उनके इलाज के खर्च का बिल अलग से जमा दिया जा सकता है। किसी भी मामले की अदालत में सुनवाई के दौरान मामले से जुड़े दस्तावेज के जेरॉक्स कॉपी व अन्य चीजों के लिए 1 हजार रुपये दिए जाएंगे। जरूरत पड़ने पर फॉरेंसिक जांच व अन्य परीक्षण के लिए पुलिस खर्च कर सकेगी। पेन ड्राइव व हार्ड डिस्क खरीदने के लिए भी खर्च तय किया गया है। विभिन्न तरह के छोटे-मोटे खर्च के लिए जांच अधिकारी को 500 रुपये मिलेगा। कोलकाता पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पहले कोलकाता पुलिस के कर्मियों को रेड पर जाने के लिए कितने रुपये खर्च करने हैं इसकी कोई सीमा नहीं बांधी गयी थी। कई मामले में देखा गया था कि जरूरत से ज्यादा रुपये खर्च हुए हैं। कई लोग बड़े होटल में ठहरे हैं। कई बार शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि जांच अधिकारी उनसे रुपये लेकर रेड पर गए हैं। इस तरह के आरोपों पर लगाम कसने के लिए कोलकाता पुलिस की ओर से यह एसओपी जारी किया गया है।

Visited 185 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

आपके नाम पर कितने सिम कार्ड है चालू? इस तरह आसानी से जानें

नई दिल्ली: कुछ महीने पहले भारत सरकार ने TAFCOP की वेबसाइट लॉन्च की है जो Telecom Analytics for Fraud Management and Consumer Protection है। इस आगे पढ़ें »

ट्रक से टक्कर के बाद कार में लगी भीषण आग, 7 लोग जिंदा जले

सीकर : राजस्थान के सीकर जिले में रविवार को एक हादसे में सात लोगों की मौत हो गई। दरअसल, यहां पर एक तेज रफ्तार कार आगे पढ़ें »

ऊपर