प्रसूताओं की मौत के मामले में प्रथम पर कोलकाता, क्या ‘रेफर’ रोग है कारण ?

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : कोलकाता पश्चिम बंगाल की राजधानी होने के कारण लोगों को भरोसा रहता है कि यहां सरकारी व निजी दोनों ही स्तरों पर राज्य में सर्वोत्कृष्ट परिसेवा लोगों को मिलती है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं कि पिछले कुछ वर्षों से राज्य के सभी जिलों में कोलकाता के सरकारी अस्पतालों में प्रसूताओं की मौत सबसे अधिक हो रही है। इस मुद्दे को लेकर स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित है और कोलकाता के एकाधिक सरकारी मेडिकल कॉलेज प्रबंधनों के साथ इसे लेकर स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक भी हुई है। काफी रुपये खर्च कर सुपर स्पेशियलिटी व मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल, प्रसूताओं के इलाज के लिए अलग केंद्र, रेफरल एम्बुलेंस चालू करने के बावजूद प्रसूताओं की मौत को लेकर स्वास्थ्य विभाग चिंतित है।
वर्ष 2021-22 में पश्चिम बंगाल में 1234 प्रसूताओं की मौत हुई है। अन्य जिलाें के मामलों में कोलकाता के सरकारी अस्पतालों में सबसे अधिक 172 मौतें हुई हैं। इस साल अप्रैल से सितम्बर के बीच केवल 6 महीने में ही राज्य के सरकारी अस्पतालों में 580 प्रसूताओं की मौत हुई है। इस बार भी कोलकाता में सबसे अधिक 91 मौतें हुई हैं। प्रसूताओं की मौत के मामले में मुर्शिदाबाद दूसरे स्थान पर है जबकि उत्तर 24 परगना तीसरे स्थान पर है। अभी जहां 99% प्रसव अस्पतालों में इंस्टीट्यूशनल डिलीवरी के माध्यम से हो रहे हैं, ऐसे में प्रसूताओं की मौतों की संख्या कम होने के बजाय बढ़ रहे हैं। इस साल 15 अक्टूबर तक कोलकाता में सबसे अधिक प्रसूताओं की मौत हुई है। राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों का मानना है कि प्रसूताओं की मौतों के पीछे नाबालिगों की शादी व 18 वर्ष से पहले ही गर्भवती होने जैसे कारण हैं। सरकारी आंकड़ों में ही आया है कि राज्य में अप्राप्तव्यस्कों की शादी का प्रतिशत लगभग 46% है। जितनी प्रसूताओं की मौतें हो रही हैं, उनमें 25-30% की उम्र 19 वर्ष से कम है। मौतों का मुख्य कारण हाइपरटेंशन, खून की कमी, सेपसिस व रक्त क्षरण हैं। एक स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार, ‘नाबालिगा प्रसूताओं की शारीरिक अवस्था व शरीर में पोषण का हाल अत्यंत खराब रहता है। गर्भावस्था में अपनी देखभाल सही ढंग से वे नहीं कर पाती हैं जिस कारण इस तरह की मौतें अधिक हो रही हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

13.63 करोड़ की ठगी का आरोप, उद्योगपति गिरफ्तार  

- झारखंड के चास थाना की पुलिस ने अभियुक्त को बांकुड़ा से किया गिरफ्तार - पुरुलिया जिला में अभियुक्त का है इस्पात कारखाना - फोटो बांकुड़ा : झारखंड आगे पढ़ें »

बारानगर में नाले से व्यक्ति का शव बरामद

बारानगर : बारानगर थाना अंतर्गत लेबू बागान स्थित एक नाले से रविवार की सुबह व्यक्ति का शव बरामद किया गया। सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले आगे पढ़ें »

ऊपर