चक्रवात से निपटने के लिए केएमसी की तैयारी युद्धस्तर पर

काली पूजा की छुट्टियां रद्द
कंट्रोल रूम के जरिए रखी जाएगी हर स्थिति पर नजर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : अंडमान द्वीप समूह में तैयार हुए चक्रवाती तूफान के सोमवार को बंगाल की खाड़ी से टकराने की संभावना है। इस दौरान राज्य के तटीय इलाकों में भारी से अति भारी बारिश होगी। चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए कोलकाता नगर निगम में शुक्रवार को मेयर फिरहाद हकीम की अध्यक्षता में बैठक की गई जिसमें एमएमआईसी संदीप रंजन बख्शी, निगम आयुक्त विनोद कुमार, निगम सचिव हरिहर प्रसाद मंडल और सभी विभाग के डीजी और वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। मेयर ने बताया कि चक्रवाती तूफान के कारण महानगर में भी भारी मात्रा में बारिश होने के संभावना है। ऐसे में बिल्डिंग विभाग के अधिकारी जर्जर अवस्था में पड़ी रिहायशी इमारतों को स्थानीय थाना की मदद से माइकिंग कर खाली करवाने और वहां रह रहे लोगों को स्थानीय स्कूलों और कम्युनिटी हॉल में स्थानांतरित करवाने का कार्य करेंगे। इसके साथ ही शुक्रवार से ही स्थानीय थाना को सरकारी स्कूलों की चाबी सूपुर्द करने का कार्य शुरू कर दिया गया। यहां स्थानांतरित हुए लोगों को ठहराया जाएगा।
जलजमाव की समस्या से निपटने के लिए लगाए जाएंगे 600 से अधिक सक्शन पंप
मेयर ने कहा कि महानगर के निचले इलाके एवं जिन इलाकों में जलजमाव की समस्या रहती है, वहां पर्याप्त संख्या में पंप लगाए जाएंगे। इसके तहत निकासी और सिविल विभाग बोरो स्तर पर 284 और 300 सक्शन पंप मुहैया कराएगा। इसके अतिरिक्त 85 अत्याधुनिक पंप शहर के निचले इलाकों में लगाए जाएंगे, जिससे बारिश के पानी को फौरन बाहर निकाला जा सके। साथ ही केईआईपी द्वारा भी निकासी व्यवस्था के लिए पंप लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि निकासी विभाग के अधिकारी शनिवार को सभी पंप की जांच कर आवंटन का कार्य शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि निगम के सभी पंपिंग स्टेश्न कंट्रोल रूम से जुड़े हुए हैं, जिसकी सहायता से किस इलाके में कितनी बारिश हुई है इसकी जानकारी आसानी से हासिल हो सकेगी।
काली पूजा आयोजकों को जारी की गई चेतावनी
मेयर ने कहा कि चक्रवात ऐसे समय में सक्रिय हुआ है जब राज्य में काली पूजा आयोजन की तैयारी चल रही है। उन्होंने कहा कि महानगर के सभी बड़े पूजा आयोजकों को पंडाल सुरक्षित रखने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही दुर्गापूजा के दौरान जिन जगहों पर होर्डिंग के लिए लकड़ी के ढांचे तैयार किए गए थे उसे फौरन खोलने का आदेश दिया गया है।
आज सीईएससी अधिकारियों के साथ लाइटिंग विभाग के अधिकारी करेंगे दौरा
मेयर फिरहाद हकीम ने बताया कि शनिवार को बिजली प्रदाता कंपनी सीईएससी के अधिकारियों के साथ निगम के लाइटिंग विभाग के अधिकारी विभिन्न वार्डों का दौरा करेंगे। इस दौरान नंगे तारों और फीडर बॉक्स की जांज की जाएगी। लोडशेडिंग और बारिश के कारण इलेक्ट्रोक्यूशन की घटना न हो इसके लिए पूरी तैयारी की जाएगी। मेयर ने कहा कि इस दौरान हुकिंग कर बिजली चोरी करने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि हुकिंग किये गए तारों को काट कर फौरन स्थानीय थाने में शिकायत करा दी जाए।
सीमावर्ती जिलों को किया गया सजग
फिरहाद हकीम ने शुक्रवार को राज्य की सभी नगर पालिकाओं के चेयरमैन के साथ भी बैठक की। उन्होंने सभी नगर पालिका के चेयरमैन को कंट्रोल रूम तैयार करने और सीमावर्ती जिले जहां चक्रवात का असर सबसे ज्यादा होगा वहां तटीय क्षेत्र में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्हें जिला अधिकारी से राहत बचाव सामग्री संग्रह करने का भी निर्देश दिया गया है।
केंद्रीय बल की सहायता मांगी गई
मेयर ने कहा कि चक्रवात की स्थिति को देखते हुए एनडीआरएफ जवानों की तैनाती की सहायता मांगी गई। सोमवार और मंगलवार को राज्य के तटीय क्षेत्रों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम स्थिति पर नजर रखेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वास्थ्य साथी के बावजूद अस्पताल ने वसूले रुपये, लगाया गया जुर्माना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य साथी कार्ड दिखाकर अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद मरीज के परिजनों से नकद रुपये लिये जाने का आरोप न्यूटाउन के आगे पढ़ें »

प्रेमिका की हत्या कर शव को दफनाया

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के खड़गपुर लोकल थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली एक महिला को मार कर दफना दिए जाने के आगे पढ़ें »

ऊपर