कोलकाता : अभी गूगल में सलाना 2 करोड़ की नौकरी लगी ही थी और हो गया हादसा

ट्रेन एक्सीडेंट में आईआईटी खड़गपुर के छात्र ने गंवाया पैर !
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता/खड़गपुर : गूगल जैसी कंपनी में सलाना 2 करोड़ रुपये के पैकेज की नौकरी लगी ही थी। ज्वाइनिंग भी होने वाली थी उसके पहले ही आईआईटी खड़गपुर के छात्र अरित्र सेन को जिंदगी ने सबसे बड़ा धोखा दे दिया। ट्रेन हादसे में अरित्र के पैर में इतनी बुरी चोट लगी है कि उसका पैर काटना तक पड़ सकता है। सुनने में तो फिल्मी कहानी सा लगता है लेकिन अरित्र की जिंदगी की यह कड़वी सच्चाई है। जानकारी के अनुसार अरित्र सेन साल्टलेक के सेक्टर 1 का रहने वाला है। वह खड़गपुर आईआईटी के मेकानिकल इंजीनियरिंग विभाग का फाईनल वर्ष का छात्र है। बुधवार की दोपहर वह हावड़ा घाटशिला मेमू लोकल में हावड़ा से खड़गपुर आया था। खड़गपुर के प्लेटफार्म संख्या 4 पर उसके साथ यह हादसा हुआ। बताया जा रहा है कि वह चलती ट्रेन से उतरने की कोशिश कर रहा था उसी दौरान उसने संतुलन खो दिया और ट्रेन की चपेट में आ गया। स्थानीय लोगों ने जीआरपी की मदद से तत्काल उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां स्थिति को बिगड़ता देख उसे कोलकाता रेफर किया गया। जानकारी के अनुसार फिलहाल वह कोलकाता के अस्पताल में भर्ती है। बेटे के साथ उसकी मां अमित्रा सेन है।
इधर शिक्षा को लेकर पता चला है कि जल्द उसके फाइनल वर्ष के इग्जाम होने वाले थे। उसके बाद ही गूगल में नौकरी के लिए वह जाने वाला था। गूगल में कैंपसिंग के जरिये अरित्र की जॉब लगी थी। अब सवाल है कि इतने बड़े हादसे के बाद अरित्र का भविष्य क्या होगा। अरित्र से बात करने की कोशिश की गयी मगर उससे बात नहीं हो पायी।
इस बारे में खड़गपुर आईआईटी के रजिस्टार तमाल नाथ ने बताया कि छात्र के बेहतर इलाज के लिए उसे कोलकाता रेफर किया गया है। उन्होंने बताया कि उसका पैर गंभीर रूप से घायल हुआ है। उन्होंने बताया कि एक महीने बाद ही गूगल में उसकी ज्वाइनिंग होने वाली थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

निगम के कार पार्किंग विभाग ने 8.5 करोड़ रुपये किए अर्जित

कोलकाता : कोलकाता नगर निगम के कार पार्किंग विभाग ने चालू वित्तीय वर्ष में 8.5 करोड़ अर्जित किए हैं। ये आय एक अप्रैल से 22 आगे पढ़ें »

तृणमूल में सब चोर नहीं, अच्छे लोग मेरे संपर्क में : मिठुन

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य की सत्ताधारी पार्टी में सब ‘चोर’ नहीं हैं, कुछ नेता अच्छे भी हैं और उन अच्छे नेताओं के साथ भाजपा संपर्क आगे पढ़ें »

ऊपर