अगर आपके बैंक अकाउंट में अज्ञात ने किया रुपये ट्रांसफर तो सावधान!

चंद रुपये के लालच में आप हो सकते हैं ऑनलाइन ठगी का शिकार
साइबर ठगों ने लोगों को ठगने का नया तरीका ईजाद किया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पहले लोगों को एटीएम और बैंकों में लंबी लाइनें लगानी पड़ती थीं। कभी एटीएम खाली हो जाने की वजह से उन्हें वापस लौटना पड़ता था, तो कभी बैंक की टाइमिंग और अवकाश के चलते लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ता था, लेकिन इंटरनेट बैंकिंग और डिजिटल लेनदेन के चलते लोगों को बहुत सहूलियत मिली है। चूंकि डिजिटल लेन-देन का चलन काफी ज्यादा बढ़ा है, इसलिए एटीएम में पर्याप्त कैश मिल जाता है और लंबी लाइनों की समस्या से भी मुक्ति मिल जाती है। पैसों के लेन-देन का स्वरूप बदलने के साथ ही ठगी के तरीके भी बदले हैं। ठगों ने लोगों को अपने झांसे में फंसाने के लिए नए-नए तरीके ईजाद किए हैं। अपनी इस स्टोरी में हम बतायेंगे कि ठगों के द्वारा किस तरह के एक तरीके को अपना कर लोगों को ठगा जा रहा है।
पहले गलती से रुपये ट्रांसफर करने की बात कहकर वापस मांगते हैं रुपये
ठगों ने एक से एक अनोखे ठगी के हथकंडे निकाले हैं। अगर थोड़ी सी भी असावधानी बरती और आपने अपनी जानकारियां शेयर करने की गलती की तो आप ठगी के शिकार हो जाएंगे। सूत्रों के अनुसार बीते कुछ दिनों से इस तरग की ठगी के बारे में साइबर विशेषज्ञ और पुलिस द्वारा लोगों को सतर्क किया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पहले साइबर ठग किसी व्यक्ति के बैंक अकाउंट या फिर वॉलेट अकाउंट में इच्छाकृत तरीके से कुछ रुपये भेजता है। इसके बाद व्यक्ति को फोन कर कहता है कि गलती से उसने उक्त व्यक्ति के अकाउंट में रुपये ट्रांसफर कर दिए हैं। इसके बाद वह व्यक्ति से अपने रुपये वापस ट्रांसफर करने की अपील करता है। वह लोगों से ऐसा बहाने बनाता है कि उनकी बातों में फंसकर व्यक्ति उनके अकाउंट में रुपये ट्रांसफर कर देता है। व्यक्ति द्वारा रुपये ट्रांसफर करते ही जालसाज उसके अकाउंट को हैक कर लेते हैं और फिर उसके अकाउंट में मौजूद सारे रुपये निकाल लेते हैं।
कैसे बचें इस तरह की ठगी से
साइबर विशेषज्ञों के अनुसार अगर कोई व्यक्ति आपके अकाउंट में रुपये ट्रांसफर करने के बाद रुपये वापस मांगता है तो आप उसे ऑनलाइन तरीके से रुपये ट्रांसफर न करें। आप उक्त व्यक्ति को सशरीर अपने घर के निकट के पुलिस स्टेशन पर उसके पहचान पत्र के सथ बुलाएं और उसे नकद रुपये ही सौंपे। साइबर विशेषज्ञों ने लोगों को अज्ञात व्यक्ति से लेनदेन करने को लेकर सतर्क किया है।
कॉल फॉरवर्डिंग व वाट्सऐप हैक करके भी कर चुके हैं ठगी
पुलिस सूत्रों के अनुसार इससे पहले साइबर ठग लोगों के मोबाइल के कॉल फॉरवर्डिंग कर वाट्सऐप हैक करके लोगों से ठगी कर रहे थे। उस समय पुलिस ने समय रहते लोगों को जागरूक किया जिसके कारण इस तरह की ठगी के मामले ज्यादा सामने नहीं आए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिसम्बर में मनाऊंगा विजया सम्मिलनी, बांटूंगा लड्डू : शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर के लाइटहाउस ग्राउंड में भाजपा की सभा को संबोधित करते हुए विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य आगे पढ़ें »

डायमण्ड हार्बर में शुभेंदु की सभा से पहले हंगामा, घरों व वाहनों में आगजनी

कांथी में अवरोध करने में मुझे 3 सेकेंड लगते : शुभेंदु सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की सभा आगे पढ़ें »

ऊपर