‘हत्या करके खुश हूं और भी लोगों की कर सकती थी हत्या’

अभियुक्त की पत्नी ने कहा, गुस्से में कुछ भी कर सकती हूं
देवरानी जिठानी के झगड़े में बली चढ़ गयी दादी पोती की
 हावड़ा : हावड़ा के एमसी घोष में हुई हत्याओं का मुख्य कारण देखा जाये तो कुछ भी नहीं है। एक मामूली विवाद ने माधवी और उनके परिवार को ही उजाड़ दिया है। रोजाना के छोटे-छोटे झगड़े ने इतना विकराल रूप ले लिया कि 4 लोगों की जान चली गयी। हालांकि इस घटना को देवब्रत घोष के साथ अंजाम देनेवाली उसकी पत्नी पल्लवी घोष को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन उसे इसका कोई पछतावा नहीं है। पल्लवी ने पुलिस को दिये बयान में कहा है कि वह हत्या करके खुश है। उसे मौका मिलता तो और भी हत्या करती। क्योंकि वह गुस्से में कुछ भी कर सकती है। पल्लवी ने कहा कि उसने लव मैरेज किया था इसके कारण परिवार में उसे सुनना पड़ता था। साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर भी थे। उसके ससुर शिशिर घोष हावड़ा इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट में काम करते थे। उसकी मां जो कि देवाशीष को ज्यादा मानती थी। वहीं शिशिर ने रियार्टमेंट के बाद कुछ रुपये बनाये थे। इसे लेकर भी झगड़े की शुरूआत हुई थी।
छोटे झगड़े भी बड़े बने : पुलिस के अनुसार देवरानी व जेठानी के बीच झगड़े की शुरूआत ऐसे तो गत 3 साल पहले हुई थी। देवरानी पल्लवी एवं जेठानी रेखा के बीच छोटी छोटी बातों के बीच विवाद होता था। चाहे पंखा बंद करना, टीवी चालू करना आदि कई ऐसी बाते हैं जो कि झगड़े का कारण बनती थी। इन विवादों के कारण ही दादी यानी माधवी घोष और पोती यानी त्रियाशा की भी बली चढ़ गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर