स्कूल शिक्षा के बाहर कितने बच्चे ? ऐप से जान सकेगा शिक्षा विभाग

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : स्कूल शिक्षा के बाहर कितने बच्चे हैं, यह जानने की पहल शिक्षा विभाग ने की है। हाल में इस विषय पर एक निर्देशिका भी जारी की गयी है। इस निर्देशिका में स्पष्ट कहा गया है कि 0-18 वर्ष तक कितने बच्चे स्कूल शिक्षा के बाहर हैं, यह जानना होगा। शिक्षा विभाग ने इस कार्य की जिम्मेदारी पश्चिम बंग समग्र शिक्षा ​मिशन परियोजना के अधीन आने वाले अधिकारियों को दी है। राज्य में शिक्षा के प्रसार के लक्ष्य से ही ये तथ्य जानने हेतु एक ऐप तैयार किया गया है। इस ऐप के द्वारा ही सभी तथ्य जाने जा सकेंगे। 0-18 उम्र के बच्चों को इस ऐप के माध्यम से रजिस्टर करना होगा। हालांकि यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि इस तथ्य को राज्य सरकार किस कार्य में इस्तेमाल करेगी। किन अधिकारियों को इस कार्य में इस्तेमाल किया जायेगा, यह निर्देश समग्र शिक्षा मिशन के अधिकारियों को दे दिया गया है। समग्र शिक्षा मिशन के अंतर्गत पैरा टीचरों, सहयोगी शिक्षकों व सरकार अनुमोदित स्कूलों के शिक्षकों को यह काम करना होगा। राज्य के अन्य जिलों के साथ कोलकाता में भी स्कूल शिक्षा के बाहर कितने बच्चे हैं, इस बारे में भी निर्देशिका में विशेष तौर पर कहा गया है। हालांकि शिक्षक संगठन बंगीय शिक्षक व शिक्षा कर्मी समिति के महासचिव स्वपन मण्डल ने कहा, ‘पहले नियम था कि यह कार्य केवल पैरा टीचर करेंगे। इसके साथ ही समग्र शिक्षा मिशन के साथ रहने वाले शिक्षा बंधुओं को भी उनका सहयोग करना होगा। हालांकि इस बार के निर्देश में कहा गया है कि साधारण शिक्षकों को भी पाड़ा-पाड़ा में जाकर स्कूल शिक्षा के बाहर रहने वाले बच्चों को चिह्नित करना होगा। शिक्षक इस कार्य में शामिल नहीं हैं, उन्हें इस कार्य में भेजने से पढ़ाई पर असर पड़ेगा।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

13.63 करोड़ की ठगी का आरोप, उद्योगपति गिरफ्तार  

- झारखंड के चास थाना की पुलिस ने अभियुक्त को बांकुड़ा से किया गिरफ्तार - पुरुलिया जिला में अभियुक्त का है इस्पात कारखाना - फोटो बांकुड़ा : झारखंड आगे पढ़ें »

बारानगर में नाले से व्यक्ति का शव बरामद

बारानगर : बारानगर थाना अंतर्गत लेबू बागान स्थित एक नाले से रविवार की सुबह व्यक्ति का शव बरामद किया गया। सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले आगे पढ़ें »

ऊपर