कोलकाता में अस्पताल होने लगे बंद, अस्पतालों में घुसा कोरोना

  • कोलकाता में 100 से अधिक डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मी कोविड-19 से संक्रमित

संदीप त्रिपाठी
कोलकाताः कोविड के बढ़ते मामलों का असर अस्पतालों की परिसेवा पर भी नजर आने लगा है। इसी क्रम में चित्तरंजन सेवा सदन और शिशु सदन अस्पताल में मरीजों की भर्ती तत्काल प्रभाव से बंद कर दी गई है। इसके अलावा यहां आउटडोर परिसेवा भी बंद रखी गई है। यहां करीब 70% स्वास्थ्यकर्मी ही कोविड संक्रमित हो गए हैं। इसमें डॉक्टर भी शामिल हैं। इसके अलावा महानगर के तीन अलग-अलग अस्पतालों में 100 से अधिक चिकित्सक पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से संक्रमित पाये गए हैं। यह जानकारी एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने सोमवार को दी। अधिकारी ने बताया कि चित्तरंजन नेशनल मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कम से कम 70 चिकित्सक, कालीघाट के चित्तरंजन सेवा सदन और शिशु सदन अस्पताल के 24 चिकित्सक और रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ ऑप्थैल्मोलॉजी के 12 चिकित्सक संक्रमित पाये गए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘चिकित्सकों को संस्थागत पृथकवास में जाने के लिए कहा गया है।’’ अधिकारी ने कहा कि इन चिकित्सकों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाया जा रहा है और तीनों अस्पतालों में सभी की चिकित्सकीय जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके अलावा एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डॉक्टर, नर्स सहित 70 स्वास्थ्यकर्मी कोविड संक्रमित मिले हैं। सूत्रों की मानें तो रेलवे के बीआर सिंह अस्पताल में भी 12 लोग कोविड संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा बेलियाघाटा आईडी में 2, डॉ.आर.अहमद डेंटल कॉलेज व हॉस्पिटल में 27,एसएसकेएम में 12 व कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में 19 लोग कोविड संक्रमित हुए हैं। इसमें डॉक्टरों से लेकर अन्य स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं।
निजी अस्पतालों पर भी कोरोना का साया
महानगर के कई निजी अस्पतालों के डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मियों में भी कोविड का संक्रमण मिला है। एक निजी अस्पताल के डॉक्टर व नर्स सहित 10 से अधिक लोग कोविड संक्रमित मिले हैं।
अस्पताल-कितने संक्रमित
सीएनएमसी-70
चित्तरंजन शिशु सेवा सदन-36 (70% स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित)
आरआईओ-12
एनआरएस-70
बीआर सिंह-12
बेलियाघाटा आईडी-2
डॉ.आर.अहमद डेंटल-27
एसएसकेएम-12
कोलकाता मेडिकल-19

शेयर करें

मुख्य समाचार

कमरे में आशिक के साथ इश्क लड़ा रही थी पत्नी, अचानक पहुंच गया पति फिर जो हुआ…

गोपालगंज : आशिक के साथ कमरे में पत्नी इश्क लड़ा रही थी। इतने में परदेस से कमा कर उसका पति घर पहुंचा और सब कुछ आगे पढ़ें »

माल नदी से 450 लोगों को बचाया गया, भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने किया इलाके का दौरा

जलपाईगुड़ी : जलपाईगुड़ी जिले में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान माल नदी में अचानक आई बाढ़ में आठ लोगों की मौत व कई लोगों के आगे पढ़ें »

ऊपर