एनजेपी से ट्रेन छूटने के बाद पत्नी को किया था आखिरी कॉल

शेयर करे

कंचनजंघा एक्सप्रेस दुर्घटना में रेल डाक सेवा कर्मचारी की मौत

कोलकाता : सोमवार की सुबह 8.30 बजे का वक्त। न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन से 13174 कंचनजंघा एक्सप्रेस रवाना हुई। ट्रेन की आखिरी डिब्बे में सवार रेल डाक सेवा (आरएमसी) कर्मचारी शंकर मोहन दास ने हमेशा की तरह अपनी पत्नी को फोन कर ट्रेन के रवाना होने सूचना दी। करीब घंटे भर का ही समय बीता था कि शंकर के भांजे ने अपने चाचा को फोन कर बताया कि न्यूज चैनल पर कंचनजंघा ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबरें चल रही हैं। शंकर को कई बार फोन करने के बाद भी वह फोन नहीं उठा रहे। दुर्घटना की खबर परिवार में जंगल के आग की तरह फैली। शंकर के चचेरे भाई पार्थ दास कॉल काटते हुए फौरन न्यूज चैनल का रुख किया। टीवी स्क्रीन पर कंचनजंघा एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त रेल के डिब्बों की तस्वीर चलाई जा रही थी। उन्होंने फौरन अपने मोबाइल फोन से बड़े भाई को कॉल लगाया मगर इस बार भी दूसरी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। पार्थ फौरन अपने चचेरे भाई के घर के लिए रवाना हो गए।

रेस्क्यू टीम ने उठाया मोबाइल, कहा हालत गंभीर है : शंकर के चचेरे भाई परिवार के अन्य सदस्यों के साथ फौरन सियालद स्टेशन पहुंचे। हालांकि, कोई सही जानकारी नहीं मिलने पर परिवार वापस घर लौट आया। इस बीच शंकर के छोटे बेटे जब उनके मोबाइल पर कॉल किया तो किसी अन्य व्यक्ति ने फोन उठाया। व्यक्ति ने बताया कि वह रेस्क्यू टीम का सदस्य है और उनके पिता की हालत गंभीर है। देर दोपहर उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज से शंकर के चचेरे भाई को फोन आया। कॉलर ने शंकर की मौत की सूचना देते हुए उनके शव की शिनाख्त के लिए परिवार को अस्पताल आने के लिए कहा। शंकर के परिवार के सदस्य दुर्घटनास्थल के लिए रवाना हो गए।

रिटायरमेंट के बाद मिला था एक्सटेंशन : 62 वर्षीय शंकर मोहन दास बीते 25 वर्षों से भारतीय डाक सेवा की शाखा रेल डाक सेवा में कार्यरत थे। हाल ही में सेवानिवृत्त होने के बाद उन्हें विभाग की ओर से एक्सटेंशन पर रखा गया था। शंकर सियालदह से न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन के बीच कंचनजंघा एक्सप्रेस के रेल डाक सेवा बोगी के प्रभारी थे। परिवार में वृद्ध मां काजल रानी दास, पत्नी स्वपना दास, दो बेटे शुभांकर मोहन दास और शुभम दास, बहू और बेटी हैं। बड़ा बेटा मेडिकल क्षेत्र से जुड़ा है। जबकि छोटा बेटा शुभम इंदौर शहर में एक इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में इंजिनीयरिंग विभाग में कार्यरत है। शंकर के घर के पड़ोस में ही उनके चचेरे भाई पार्थ दास का परिवार रहता है।

फुटबॉल प्रेमी के रूप में थे मशहूर : शंकर की मौत की खबर से केवल उनके परिजन ही नहीं बल्की इलाके के लोग भी शोक के माहौल में है। घटना की सूचना मिलने के बाद से ही कैनल सर्कुलर रोड स्थित उनके घर के बाहर लोगों की भीड़ इकट्ठा होने लगी। इलाके के लोगों के बीच शंकर फुटबॉल प्रेमी के रूप में मशहूर थे।

रेलवे सुरक्षा को लेकर परिवार में रोष : सुरेश मोहन दास ने आरोप लागाया कि रेलवे सुरक्षा के विषय पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

Visited 153 times, 2 visit(s) today
1
0

मुख्य समाचार

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तीसरी बार बनी सरकार ने अपना पहला बजट पेश कर दिया
नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश कर रही हैं। उन्होंने कहा, 'भारत की जनता ने
कोलकाता : विधायकों के शपथ ग्रहण को लेकर विधानसभा और राजभवन के बीच तकरार जारी है। स्पीकर विमान बनर्जी ने
बर्दवान : शक्तिगढ़ के प्रसिद्ध लेंग्चा दुकानों में बासी लेंग्चा, मिठाइयां बेचे जाने के विरुद्ध स्वास्थ्य विभाग, जिला पुलिस, क्रेता
कोलकाता: नीति आयोग की बैठक से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकती हैं। राज्य की सभी
कोलकाता : सप्ताह में मंगलवार का दिन संकट मोचन बजरंगबली को समर्पित होता है। इस दिन उनकी पूजा अर्चना करने
कोलकाता : तृणमूल से चारों नवनिर्वाचित विधायक पहुंचे विधानसभा। शपथ समारोह के लिए प्रक्रिया शुरू। कल चारों विधानसभा में ही
कोलकाता : कहते हैं भगवान शिव काफी भोले होते हैं। वह भक्तों के जरा से प्रयासों से भी खुश हो
कोलकाता : 22 जुलाई से सावन का पावन महीना शुरू हो रहा है। इस साल सावन की शुरुआत सोमवार से
मुख्य बातें एयरपोर्ट यात्री ध्यान दें घर से निकलने से पहले बोर्डिंग पास निकाल लें एयरपोर्ट पर मौजूद एयरलाइंस के
सबिता राय कोलकाता: पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के द्वारा आज शहीद दिवस रैली का आयोजन किया गया है। इस
कोलकाता : लोकसभा चुनावों में दमदार प्रदर्शन करने के बाद तृणमूल कांग्रेस आज यानी रविवार को धर्मतल्ला में शहीद दिवस
ऊपर