14 सौ करोड़ बिजली बिल वसूली के लिए सरकार का ‘वेब’ अभियान

सोनू ओझा
12 लाख उपभोक्ताओं ने सालों से नहीं भरा है बिजली बिल
2018 तक के बिल पर सरकार देगी आधी छूट
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य में सत्ता परिवर्तन के साथ कई बदवाल भी देखे गये, इन सभी में अगर बेहतर तरीके से कहीं कुछ अलग तस्वीर सामने आयी है तो वह बिजली के मामले में है। 2010 तक राज्य में बिजली गुल रहना आम बात सी थी जिसे 2011 से अब तक काफी कुछ पटरी पर लाया गया। कहना गलत न होगा कि आज हर घर में लगभग बिजली पहुंच गयी है। सरकार के सराहनीय प्रयास के बावजूद आज की तारीख में वेस्ट बंगाल स्टेट इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रिब्यूशन कंपनी लिमिटेड (डब्ल्यूबीएसईडीसीएल) के खाते में करीब 14 सौ करोड़ रुपये का बिल बकाया है जिसे उपभोक्ताओं ने आज तक भरा नहीं है। इतनी बड़ी राशि को देखते हुए ही अब राज्य के बिजली विभाग ने बिल वसूली के लिए वेब अभियान शुरू किया है जिसके मार्फत उम्मीद जतायी जा रही है कि कुछ नहीं भी तो आधी रकम खाते में आ जाए।
दुआरे सरकार में एक महीने के लिए मिलेगी छूट
मालूम हो कि राज्य सरकार ने 2 नवंबर से दुआरे सरकार शुरू किया है जो 30 नवंबर तक चलेगा जिसमें पहली बार बिजली विभाग की ओर से कैंप लगाया गया है। यहां पहली बार बिजली बिल पर वेब देने की पहल की गयी है। बि​जली विभाग के अधिकारी ने बताया कि यह पहली बार लागू हुआ है जो फिलहाल इसी बार के दुआरे सरकार में लागू होगा। 30 नवंबर के बाद जो स्टेटस होगा उसके हिसाब से इसे आगे बढ़ाने की योजना बनायी जाएगी।
2018 तक का बिल है तो भरना होगा आधा पैसा
अधिकारी ने बताया कि 2018 दिसंबर तक के बकाये बिजली के बिल वाले उपभोक्ताओं को छूट का मौका मिलेगा। इनका बिल जितना भी है उसकी आधी राशि ही जमा करनी होगी। बिजली बिल की कुल राशि 14 सौ करोड़ रुपये है जो करीब 2007 से बकाया है। बिजली विभाग का टार्गेट है कि ज्यादा से ज्यादा उपभोक्ताओं से बकाये बिल का भुगतान करा सकें।
12 लाख उपभोक्ताओं ने नहीं भरा है बिल
करीब 12 लाख उपभोक्ताओं ने सालों से अपना बिल जमा नहीं किया है जिसकी वजह से 14 सौ करोड़ रुपये का बकाया विभाग झेल रहा है। अब जब वेब का लाभ दिया जा रहा है तो इस श्रेणी में रेसिडेंशियल और एग्रीकल्चर से जुड़े बिजली कनेक्शन वालों को रखा गया है जिन्हें अपने बिल में आधा पैसा ही जमा करना होगा।
4 दिन में 22898 आवेदकों ने मांगा वेब
​सालों से बि​जली बिल न भरने वाले 12 लाख उपभोक्ताओं में से 22898 उपभोक्ताओं ने वेब के लिए आवेदन दिया है। इन्हें 30 नवंबर तक अपना बिल अदा करना होगा तभी उन्हें बिल की आधी राशि जमा करने का मौका मिलेगा। वहीं 30 नवंबर तक और कितने आवेदक आते हैं इसका इंतजार किया जा रहा है क्योंकि यह दोहरा मौका है जिसमें उपभोक्ता की आधी रकम माफ हो रही है तो बिजली विभाग के खाते में जहां कुछ नहीं आ रहा है वहां करीब 7 सौ करोड़ रुपये आने की उम्मीद बंधी है।
पेनल्टी के लिए 80 फीसदी लोगों का कनेक्शन काटा गया है
चूंकि बिल काफी दिनों से लंबित है इसलिए विभाग की तरफ से करीब 80 फीसदी लोगों का बिजली कनेक्शन काट दिया गया है। अब ये लोग या तो दूसरे के घर से कनेक्शन उधार लेकर बिजली का इस्तेमाल कर रहे हैं या हुकिंग करके अपने घर की बत्ती जला रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महेशतल्ला में अवैध शराब के अड्डे में युवक की हत्या

सन्मार्ग संवाददाता दक्षिण 24 परगना : महेशतल्ला थाना क्षेत्र के बाटानगर मल्लिक बाजार के सड़क किनारे स्थित एक अवैध शराब के अड्डे में शुक्रवार की रात आगे पढ़ें »

‘दरवाजा खोला तो गिर जाएगी भाजपा’

पूर्व मिदनापुर : बंगाल की राजनीति में इस दिसबंर बड़ा धमाल होगा। भाजपा इसे लेकर बराबर दावे करती आ रही है। इस बीच शनिवार को आगे पढ़ें »

ऊपर