कोविड पर सरकार की तैयारियां हैं पूरी, न पैनिक हों और न हों लापरवाह

हेल्थ एक्सपर्ट्स की सलाह – मास्क, सैनिटाइजर व सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोविड की चौथी लहर की आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं। पिछले कई दिनों में कोरोना के मामले में उछाल आया है। राज्य सरकार का स्वास्थ्य विभाग कोविड की स्थिति पर पूरी पैनी नजर बनाये हुए है। अगर मामले और बढ़ते हैं तो इसके लिए तैयारियां भी की गयी हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फिलहाल कोविड को लेकर पैनिक होने की स्थिति नहीं है। इसका अर्थ यह नहीं है कि लापरवाही बरती जाये। अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकार ने अभी तक कोविड के नियमों काे हटाया नहीं है। कोविड से लड़ने के लिए तीन अहम कदम मास्क पहनना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते रहना तथा सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखना अभी भी जरूरी है। कोलकाता म्युनिसिपल के हेल्थ ऑफिसर ने बताया कि कोलकाता की 44 लाख की आबादी में जो अभी कोविड के मामले सामने आ रहे हैं उससे घबराने जरूरत नहीं है बल्कि अलर्ट रहने की जरूरत है। कोलकाता के सभी बोरो कार्यालयों से रोजाना कोविड का अपडेट लिया जा रहा है। हालांकि लोगों को कोविड के तीन सबसे अहम नियमों को मानकर ही चलना होगा।
अस्पतालों में तैयारी पूरी, निजी अस्पतालों को अलर्ट किया गया
सरकार की ओर से कोविड को लेकर अस्पतालों में पूरी तैयारियां रखी गयी हैं। निजी अस्पतालों को भी अलर्ट किया गया है। हर रोज मॉनिटरिंग की जा रही है। पिछला तीन बार का अनुभव है। ऐसे में अगर कोविड के मामलों में और ज्यादा उछाल आया तो तुरंत एक्शन लिया जाएगा।
फिलहाल लॉकडाउन या पाबंदियों की आवश्यकता नहीं
बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों के मन में लॉकडाउन या फिर सख्ती बढ़ने की चिंता सता रही है। कामकाज पर भी असर पड़ेगा। हालांकि फिलहाल इन सभी की आवश्यकता नहीं है।
इन जिलों पर विशेष फोकस
राज्य के 23 जिलों में से कई जिले ऐसे हैं जिनमें कोविड ने सबसे ज्यादा कहर मचाया है। इनमें उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, हुगली सहित कोलकाता शामिल हैं। इस बार भी इन जिलों व महानगर पर नजर बनी हुई है। कोलकाता में गत गुरुवार को 431 मामले तथा उत्तर 24 परगना में 276 मामले सामने आये हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर