बड़ाबाजार में दुकान के अंदर फंदे से लटकता मिला स्वर्ण व्यवसायी

बहू की प्रताड़ना से परेशान था स्वर्ण व्यवसायी
बहू और उसके घरवालों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज
सुसाइड नोट में लिखा – मेरे मोबाइल में वीडियो है, 6 लोगों के नाम, इनके कारण मैं मर रहा हूं
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बड़ाबाजार के सोनापट्टी इलाके की एक दुकान से स्वर्ण व्यवसायी का फंदे से लटकता हुआ शव बरामद किया गया। घटना पोस्ता थानांतर्गत कानू लाल लेन की है। मृत व्यवसायी का नाम नंदलाल सोनी (50) है। वह दमदम के जेशोर रोड स्थित अवनी ऑक्सफोर्ड अपार्टमेंट का रहनेवाला था। घटनास्थल से दो सुसाइड नोट और व्यवसायी के मोबाइल में एक 16 मिनट का वीडियो भी मिला है। पहले सुसाइड नोट में व्यवसायी ने लिखा है कि ‘मेरे मोबाइल में वीडियो है , इनके कारण मैं मर रहा हूं’। दूसरे सुसाइड नोट में मृत व्यवसायी ने अपनी मौत के लिए अपनी बहू और उसके घरवालों को जिम्मेदार ठहराया है। व्यवसायी ने लिखा है कि बहू और उसके घरवालों की प्रताड़ना से तंग आकर हम आत्महत्या कर रहे हैं। व्यवसायी की मौत के बाद उसकी पत्नी रजनी सोनी ने अपनी बहू दिव्या सोनी और उसके घरवालों के खिलाफ पोस्ता थाने में शिकायत दर्ज करायी। पुलिस ने उक्त शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 306 और 34 के तहत मामला दायर किया है। पुलिस के अनुसार व्यवसायी की बहू अपने पति के साथ अलग रहना चाहती थी लेकिन व्यवसायी अपने इकलौते बेटे को अपने से अलग नहीं करना चाहता था, इसलिए आए दिन घर में विवाद व झगड़ा होता था।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार स्वर्ण व्यवसायी नंदलाल सोनी रविवार की रात 11 बजे जब घर नहीं लौटे तो उनके बेटे ने आदि बांसतल्ला में रहनेवाले उनके दोस्त को फोन किया। फोन करने पर उसे पता चला कि नंदलाल की स्कूटी दुकान के बाहर खड़ी है। इसके बाद उसका बेटा जब बड़ाबाजार आया तो उसने कानू लाल लेन स्थित दुकान के अंदर अपने पिता को फंदे से लटकता हुआ पाया। युवक ने तुरंत कांच की गेट को तोड़कर दरवाजा खोला और पिता को बिल्ड‌िंग के सुरक्षा कर्मी की मदद से फंदे से नीचे उतारा। घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गयी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटनास्थल से दो सुसाइड नोट मिले हैं। पुलिस ने प्राथमिक जांच में पाया कि नंदलाल सोनी का आदि बांसतल्ला और कानू लाल लेन में दो सोने की दुकानें हैं। उसके घर में पत्नी रजनी, बेटा मयंक, बहू दिव्या और बेटी मुस्कान और दो छोटी नातिन हैं। 6 महीने पहले ही उनकी बेटी की शादी मुजफ्फरपुर में हुई है। वहीं उनके बेटे मयंक की शादी 5 साल पहले गोलाबाड़ी की रहनेवाली दिव्या सोनी से हुई थी। शादी के बाद से ही बहू द‌िव्या घर से अलग होने के लिए रोजाना सुसराल में सास, ससुर और पति से झगड़ा करने लगी। इसके कारण परिवार में अशांति रहने लगी और नंदलाल मानसिक अवसाद से ग्रस्त हो गए। आरोप है कि बहू दिव्या के साथ उसके मायकेवाले भी नंदलाल और उसकी पत्नी और बेटे से झगड़ा करते थे और मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। ऐसे में प्रताड़ना से परेशान होकर उसने रविवार की रात अपनी दुकान में आत्महत्या कर ली। नंदलाल ने अपनी मौत के बाद अपनी बहू और उसके घरवालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इस बीच मृत व्यवसायी की पत्नी ने अभियुक्तों के ख‌िलाफ शिकायत दर्ज करायी है।
क्या लिखा हुआ है व्यवसायी के सुसाइड नोट में
मैं नंदलाल सोनी, दिव्या सोनी जो कि मेरे बेटे की औरत है, उसके कारण आत्महत्या कर रहा हूं। इसके लिये वह और उसका पूरा परिवार जिम्मेदार है। उन्होंने मेरी मेरी पत्नी का और मेरे बेटे का जीना मुश्क‌िल कर दिया है। हर वक्त लड़ाई, झगड़ा, धमकी, 5 साल में लगभग 50 बार मीटिंग होती है और फिर वहीं लड़ाई, झगड़ा शुरू हो जाता है। इसमें दिव्या का साथ उसकी भाभी, भाई, पिता और परिवार के अन्य सदस्य देते हैं। उन्होंने लिखा है कि मेरी मौत के बाद दिव्या पर कार्रवाई होती है तो मेरी दोनों पोतिया का दायित्व मेरी भाभी को दे दी जाए। उन लोगों को अपने कर्मों का फल भुगतना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर