सफाई का बाट जोह रही है गंगा घाट

कल्पना सिंह

– नदी के किनारे बिखरे हैं पॉलिथीन और थर्मोकोल
 
कोलकाताः दो दिन पहले जिन छठ घाटों पर हम आस्था और श्रद्धा का महापर्व मना रहे थे, उन्हीं घाटों के आसपास गंदगी का अंबार लगा हुआ है। पूजा के पूर्व कोलकाता नगर निगम सहित विभिन्न स्वंयसेवी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने महानगर के तालाबों और नदी तटों की सफाई कराई थी, लेकिन पूजा समाप्त होने के बाद साफ-सफाई का काम नहीं किया गया। छठ के मौके पर नदियों और तालाबों के किनारे जहां पूजा पाठ के लिए व्रती महिलाओं की भीड़ जुटी, वहां अब फूल, माला, पाॅलिथीन, लकड़ी, गन्ने आदि के अवशेष से गंदगी का अंबार लग गया है।
पानी को प्रदूषित कर रही है गंदगी
छठ पूजा संपन्न होने के बाद सन्मार्ग की टीम ने मंगलवार को नदियों के उन घाटों और तालाबों की पड़ताल की जहां पूजा के लिए मेला लगा था। वहां चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ है। यह स्थिति है महानगर के निमतल्ला और अहिरीटोला घाट की। यह गंदगी धीरे-धीरे नदी में जा रही है और पानी को प्रदूषित कर रही है।
कहा स्‍थानीय लोगों ने…
निमतल्ला घाट पर मौजूद रोहन साव ने कहा कि प्रशासन ने यहां से सजावट का सामान तो हटवा लिया, परंतु कचरे को हटवाने की कोई व्यवस्था नहीं की। कचरे में से कूड़ा छांटने वाले अपने जरूरत का सामान उठाते जरूर दिख रहे हैं। वहीं, अहिरीटोला घाट के पास मौजूद मीरा देवी ने कहा कि इस गंदगी से न सिर्फ गंगा नदी प्रदूषित होगी बल्कि हमारे लिये भी काफी दिक्कतें हैं। पूजा समाप्त हुए 24 घंटे से भी ज्यादा समय बीत गये लेकिन गंदगी की सफाई के लिए कुछ नहीं किया गया।
गंदगी के मुद्दे पर बोले वार्ड 20 के पार्षद
जब घाटों पर फैली गंदगी के बारे में हमने वार्ड नं 20 के पार्षद विजय उपाध्याय से बात की तो उन्होंने बताया कि घाटों की सफाई का काम दिन में दो बार किया जाता है लेकिन नदी में दो बार ज्वार भाटा आता है जिस कारण घाटों पर गंदगी फैल जाती है। भाटा आने के कारण नदी का जलस्तर 30-40 फुट बढ़ जाता है और इसलिये घाटों पर गंदगी आ जाती है। हम घाटों की सफाई का खास ख्याल रखते हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यहां की सफाई के लिये कड़े निर्देश दिये हैं इसलिये हमने निमतल्ला घाट की सफाई के लिये 20 कर्मचारियों को नियुक्त किया है। मंगलवार सुबह भी निमतल्ला घाट की सफाई की गई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पंचायत चुनाव : गांवों की सड़कों को किया जाएगा सपाट

राज्य सरकार ने जारी किया 714 करोड़ 50 लाख रुपया केंद्र ने हाल ही में दिया है 584 करोड़ का फंड सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत आगे पढ़ें »

किस्मत से जुड़ा होता है गुलाब का फूल, वास्तु के ये उपाय बनाएंगे आपको धनवान

कोलकाता : हमारे जीवन में जिस तरह पेड़-पौधों का महत्व है, उसी तरह फूलों का भी विशेष महत्व होता है। घर को महकाने से लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर