‘बुद्ध के पदचिह्न’ : भारत यात्रा पर भूटान के शीर्ष 24 भिक्षु पहुंचे कोलकाता

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भारत में विभिन्न बौद्ध पवित्र स्थलों के दौरे पर भूटान के 24 शीर्ष भिक्षुओं का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को कोलकाता पहुंचा। भूटान के केंद्रीय मठ निकाय के सचिव श्रद्धेय उगेन नामग्याल ने कहा कि बौद्ध धर्म भूटान का राजकीय धर्म ही नहीं, जीवन पद्धति भी है। उन्होंने कहा, ‘हम जीवन में बुद्ध के पदचिह्नों के अनुसरण का प्रयास करते हैं। हमारे लिए बौद्ध धर्म जीवन पद्धति है। यहां तक कि हमारी कला और वास्तुकला में भी हमारी धार्मिक परंपराएं झलकती हैं।’ अंतरराष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ (आईबीसी) ने भूटान के केंद्रीय मठ निकाय के समन्वय से इन भिक्षुओं के लिए यात्रा का आयोजन किया है। यह यात्रा 30 नवंबर को समाप्त होगी। आईबीसी के उप महासचिव श्रद्धेय जेंग चुप चोडेन और वेन नामग्याल के नेतृत्व में भिक्षु आंध्र प्रदेश में नागार्जुन, तेलंगाना में बुद्धवनम और उत्तर प्रदेश में संकिसा सहित भारत के विभिन्न बौद्ध स्थलों का दौरा करेंगे। ‘झुंग द्रात्शांग’ या भूटान के केंद्रीय मठ निकाय की स्थापना 1620 में हुई थी। भूटान के संविधान के अनुसार, ‘झुंग द्रात्शांग’ एक स्वायत्त संस्था है, जिसे शाही सरकार से वार्षिक अनुदान मिलता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वास्थ्य साथी के बावजूद अस्पताल ने वसूले रुपये, लगाया गया जुर्माना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य साथी कार्ड दिखाकर अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद मरीज के परिजनों से नकद रुपये लिये जाने का आरोप न्यूटाउन के आगे पढ़ें »

प्रेमिका की हत्या कर शव को दफनाया

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के खड़गपुर लोकल थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली एक महिला को मार कर दफना दिए जाने के आगे पढ़ें »

ऊपर