दमकल विभाग को मिलेगा 15 आधुनिक फायर टेंडर

सोनू ओझा

गली-कूचों में लगी आग के लिए लाये जाएंगे 200 नये बुलेट माउंटेड पंप

कोलकाता : कोलकाता का आग से पुराना नाता है। कई बड़ी आग का गवाह कोलकाता बनता आया है। स्टीफन कोर्ट, नंदराम मार्केट, आमरी, बागड़ी की आग बड़े उदाहरण हैं जिस पर काबू पाने में दमकल विभाग के पसीने छूट गये थे। सालों से आग की चिंगारी बुझाते आ रहे दमकल विभाग को जल्द ही 15 नये आधुनिक फायर टेंडर मिलने वाले हैं। दमकल विभाग के डीजी व आईजी रणवीर कुमार ने सन्मार्ग को बताया कि प्रस्ताव को हेडर्क्वाटर भेज दिया गया है, हरी झण्डी मिलते ही आगे की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।
मिड साइज व ब्राउजर दोनों तरह केे होंगे फायर टेंडर
डीजी ने बताया कि 15 नये फायर टेंडर लाने की योजना है जिसमें मिड साइज (जिसकी क्षमता 6 हजार लीटर पानी की होती है) तथा ब्राउजर (जिसकी क्षमता 12 हजार लीटर पानी की क्षमता होती है) दोनों शामिल हैं। उन्होंने बताया कि हाल ही में कुछ नये फायर स्टेशन बनाये गये हैं, वहां कुछ टेंडर भेजे जाएंगे, बाकी टेंडर फायर स्टेशन की मांग को देखते हुए इस्तेमाल में लाया जाएगा।
200 नये बुलेट माउंटेड पंप आएंगे
प्रस्ताव में 200 नये बुलट माउंटेड पंप भी हैं जो मुख्यत: कोलकाता के लिए हैं। यहां छोटी गलियों में जब आग लगती है तो बड़े फायर टेंडर मौके पर नहीं जा पाते या आग लगने पर सबसे पहले बुलेट ही भेजी जाती है। इस लिहाज से दमकल विभाग के लिए बुलेट काफी महत्वपूर्ण है। मौजूदा समय में दमकल विभाग के पास 100 बुलेट हैं।
दमकल तो आधुनिक होगा, लोग भी जागरूक हों
डीजी ने बताया कि दमकल विभाग नियमों को देखते हुए अपनी ​जिम्मेदारी निभाता आ रहा है। लोगों को भी जागरूक होने की आवश्यकता है। रही बात टेंडर की तो 2018 में कुछ नये फायर टेंडर मंगाये गये थे। मौजूदा समय में कई फायर टेंडर ठीक तरीके से काम नहीं कर रहे हैं। सरकारी नियम के अनुसार 15 साल से पुरानी गाड़ियों का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, जबकि दमकल के पास कई पुरानी गाड़ियां हैं जिन्हें रिप्लेस किया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकार पड़ी चीजों से महज 10 हजार रुपयों की लागत पर बना डाली कार

शांतिपुर के संजय की कार ने खींचा लोगों का ध्यान लॉकडाउन में भतीजे के लिए बनायी गयी कार से मिला आइडिया नदिया : बेकार पड़े सामान की आगे पढ़ें »

इस दिन हनुमान जी की आराधना करने से पाए सफलता, शांति, सुख, शक्ति और साहस

कोलकाता: केसरी और अंजना के पुत्र, हनुमान का जन्म मंगलवार को चैत्र के हिंदू महीने के दौरान पूर्णिमा के दिन हुआ था। भगवान हनुमान को आगे पढ़ें »

ऊपर