न्यू बैरकपुर अग्निकांड : श्रमिकों के शव का किसी ने कपड़ों तो किसी ने चेन की पहचान

-दमकल ने 3 दिनों के अथक प्रयासों के बाद गंजी कारखाने में लगी आग पर पाया काबू

– ड्रोन के जरिये खोजे गए 4 कर्मियों के शव
– सरकार ने की मृतकों के परिजनों की आर्थिक मदद
न्यू बैरकपुर : आखिरकार 3 दिनों के अथक प्रयास के बाद दमकल ने न्यू बैरकपुर के बिलकांदा स्थित गंजी कारखाना व दवा गोदाम में लगी आग पर नियंत्रण पाया। ड्रोन की सहायता से कारखाने में फंसे कर्मियों के शवों को भी ढूंढ निकाला गया और उन शवों को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इस दिन फॉरेंसिक की टीम ने भी घटनास्थल पर पहुंच कर आग के कारणों की जांच के क्रम में आवश्यक कार्रवाई करते हुए कुछ नमूने संग्रह किए।
मिली जानकारी के अनुसार मृतकों में अमित सेन, सुब्रत घोष, स्वरूप घोष, तन्मय घोष के परिजनों में किसी ने कपड़ों, किसी ने उनके गले की चेन तो किसी निशान के जरिये उनकी पहचान की। चारों ओर यहां विनाश का मंजर बन गया और 3 दिनों से टकटकी लगाए परिजनों की सारी उम्मीद टूट गई तो वे बिलख पड़े। आग की भयावहता और फैले विनाश को देखते हुए दमकल ने इमारत की जर्जर हो चुकी दीवारों को गिरा दिया ताकि यह और किसी दुर्घटना का कारण ना बने। दूसरी ओर स्थानीय सांसद ने मृतकों के परिजनों के साथ खड़े होते हुए उन्हें इसदिन ही स्थानीय बीडीओ कार्यालय में बुलाकर उन्हें 2-2 लाख रुपये का चेक प्रदान करते हुए परिजनों की आर्थिक मदद की। उन्होंने कहा कि ऐसा हादसा फिर कभी नहीं होना चाहिये। इसके पीछे के कारणों की जांच की जाएगी और किसी की भी लापरवाही सामने आती है तो आवश्यक कार्रवाई भी होगी। उल्लेखनीय है कि बुधवार की तड़के 3 बजे के करीब गंजी कारखाने में भयानक आग लगी और कारखाने की इमारत के पीछे के हिस्से में स्थित दवा गोदाम में पड़े ज्वलनशील पदार्थों से यह आग और भी भयावह होती गई। दमकल की 24 इंजन सहित रोबोट को काम मे लगाने के बाद भी लगभग 57 घंटों के बाद आग पर काबू पाया गया। 

शेयर करें

मुख्य समाचार

योग्य प्रार्थियों को नौकरी देने के लिए राज्य तैयार, एसएससी पहुंचा कोर्ट

जरूरी हो तो 'गलत तरीके' की गयी नियुक्तियाें को भी रद्द करने को तैयार कुल 14,977 पद सृजित किये जा रहे हैं इनमें से 5,261 पद सृजित आगे पढ़ें »

‘एजेंसी की गिरफ्तारी पर असम्मानित महसूस किया था सुब्रत दा ने’

एकडालिया के उद्घाटन पर ममता ने किया सुब्रत दा को याद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : एकडालिया पूजा पंडाल का उद्घाटन करने पहुंची मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्वर्गीय आगे पढ़ें »

ऊपर