आबकारी विभाग के नाम पर तैयार की गयी ‘नकली’ वेबसाइट

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य सरकार के आबकारी विभाग के नाम पर ‘नकली’ वेबसाइट तैयार की गयी है। सरकारी नहीं होने के बावजूद उस वेबसाइट से लिकर दुकान के लिए लाइसेंस दिलाने का दावा किया जा रहा है। आबकारी विभाग का दावा है कि इस तरह की कई वेबसाइट सक्रिय हुई हैं। कोई व्यवसायी इस जाल में ना फंसे, इसके लिए आबकारी विभाग द्वारा प्रचार शुरू किया गया है। यहां उल्लेखनीय है कि फिलहाल राज्य आबकारी विभाग के अधिकतर कार्य ही सरकारी पोर्टल के माध्यम से होते हैं। सरकारी पोर्टल के माध्यम से नया लाइसेंस देने से लेकर अन्य घोषणाएं की जाती हैं। इस पोर्टल में जाकर ही राज्य सरकार द्वारा निर्धारित वि​भिन्न प्रकार के लिकर का उचित मूल्य भी जाना जा सकता है। कोई क्रेता ‘ई-आबकार’ के माध्यम से रिटेल में लिकर खरीदना चाहे तो विस्तारिक जानकारी इस पोर्टल पर मिलती है। अब यह सरकारी पोर्टल खोलते ही आबकारी विभाग द्वारा सतर्कता की जानकारी दी गयी है। इसमें कहा गया है कि सरकारी पोर्टल की तरह देखने में विभिन्न नकली वेबसाइट्स की खबर विभाग को मिली है। यह देखने में सरकारी पोर्टल के समान होने के कारण भ्रांति हो सकती है, ऐसे में इस मुद्दे पर सतर्क रहने की आवश्यकता है। इसके साथ ही एक पोर्टल (https://exciselicensegov.com/) का उल्लेख कर कहा गया है कि इससे सरकार का कोेई संपर्क नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नामी कंपनी के लेबर लगाकर नमक बेचने के आरोप में व्यवसायी गिरफ्तार

बारासात : बारासात जिला डीईबी की टीम ने मिली गुप्त सूचना पर शनिवार को देगंगा के कुलीनहाट इलाके में एक नमक गोदाम में छापामारी अभियान आगे पढ़ें »

जिसे पकड़ता हूं उसे खत्म करके छोड़ता हूं : शुभेंदु

कोलकाता : डायमंड हार्बर से तृणमूल पर जमकर बरसे भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी। कहा कि दिसंबर में खेला होगा। पंचायत चुनाव के बाद बांटेंगे लड्डू। आगे पढ़ें »

ऊपर