निशुल्क अनाज वितरण योजना की अवधि 6 महीने और बढाएं : तृणमूल

पीएम को सांसद सौगत ने लिखा पत्र
कहा – गरीब लोग महामारी और लॉकडाउन से हुए नुकसान से अब भी जूझ रहे हैं
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे निशुल्क अनाज उपलब्ध कराने के कार्यक्रम की अवधि छह और महीने बढ़ाने का अनुरोध किया है। सांसद ने कहा कि गरीब लोग महामारी और उसे फैलने से रोकने के लिए लगाए लॉकडाउन से हुए आर्थिक नुकसान से अभी तक उबरे नहीं हैं। उन्होंने 13 अगस्त को लिखे पत्र में कहा, ‘मैं आपका ध्यान इस ओर दिलाना चाहता हूं कि पीएमजीकेएवाई के तहत अनाज के वितरण की वैध अवधि सितंबर 2022 से खत्म हो जाएगी। मैं आपसे कम से कम 6 महीने तक इस योजना की अवधि बढ़ाने पर विचार करने का अनुरोध करता हूं क्योंकि कोरोना का भय अब भी देश तथा लोगों के सामने है और खासतौर से एनएफएसए (राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून) के गरीब लाभार्थी महामारी से हुए वित्तीय नुकसान से अभी तक उबरे नहीं हैं।’ इस योजना से 80 करोड़ से अधिक लोगों को लाभ पहुंचा और इसकी अवधि मार्च में छह महीने के लिए बढ़ायी गयी थी। सांसद ने रविवार को पत्रकारों से कहा, ‘मैंने इस कार्यक्रम की अवधि बढ़ाने का प्रधानमंत्री से अनुरोध किया क्योंकि देश के गरीब लोग महामारी और लॉकडाउन से हुए नुकसान से अब भी जूझ रहे हैं। उनकी वित्तीय स्थिति कोविड-19 फैलने से पहले के जैसी नहीं हुई है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर