वायरस व फ़्लू से बचने के लिए इस बार संभलकर होली मनाने की सलाह दे रहे एक्स्पर्ट्स

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बच्चों का पसंदीदा होली का त्योहार नज़दीक है। हालांकि इस बार काफ़ी संख्या में बच्चे एडिनोवायरस, निमोनिया जैसे वायरस व फ़्लू के चपेटे में हैं। इस कारण अभिभावक भी काफ़ी परेशान हैं कि इस बार होली में बच्चों को कैसे सम्भालें।इस बीच, हेल्थ एक्स्पर्ट्स सलाह दे रहे हैं कि बधे संक्रमण और वायरस के बीच अगर बचना है तो बच्चों को इस होली अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है।
डॉ. सुमिता साहा, सलाहकार, बाल रोग, फोर्टिस अस्पताल, आनंदपुर, कोलकाता एडिनोवायरस के प्रसार के दौरान सुरक्षित होली मनाने के बारे में कई सुझाव देती हैं।
* अपने परिवार के साथ मनाएं: लोगों के बड़े समूहों के साथ इकट्ठा होने के बजाय, अपने परिवार के करीबी सदस्यों के साथ होली मनाने पर विचार करें। इससे वायरस के संपर्क में आने के जोखिम को कम करने में मदद मिलेगी।
• मास्क पहनें: सुनिश्चित करें कि आपने और आपके आस-पास के सभी लोगों ने मास्क पहना हुआ है। यह वायरस के प्रसार को रोकने का एक प्रभावी तरीका है।
• सामाजिक दूरी बनाए रखें: दूसरों से कम से कम छह फीट की सुरक्षित दूरी बनाए रखें। गले लगने और हाथ मिलाने जैसे शारीरिक संपर्क से बचें।
• बाहर मनाएं: घर के बजाय बाहर होली मनाना ज्यादा सुरक्षित है। आप एक खुले क्षेत्र में रंगों के साथ खेलने पर विचार कर सकते हैं जहाँ ताज़ी हवा और धूप बहुत होती है।
• अस्वस्थ महसूस होने पर घर पर रहें: यदि आप या आपके परिवार में कोई अस्वस्थ महसूस कर रहा है या एडेनोवायरस के लक्षण प्रदर्शित कर रहा है, तो यह महत्वपूर्ण है कि घर पर रहें और अपनी श्वास की बारीकी से निगरानी करें। सांस लेने में किसी भी तरह की परेशानी होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Visited 102 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

सिर्फ गर्दन का व्यायाम हमें इतने रोगों से रख सकता है दूर

कोलकाता : रीढ़ की हड्डी को कशेरूक दंड या मेरूदंड कहा जाता है। इससे समस्त कंकाल को सहारा मिलता है। रीढ़ की हड्डी या मेरूदंड आगे पढ़ें »

गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की करें पूजा, इन 3 बातों को रखें ध्यान

नई दिल्ली: गुरुवार के दिन का हिंदूओं में विशेष महत्व है। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा होती आगे पढ़ें »

ऊपर