प्रशासनिक बैठक में नहीं मिली माल हादसे के इन बहादुरों को एंट्री

सभा के बाहर बैठे युवकों ने जतायी नाराजगी
सन्मार्ग संवाददाता
मालबाजार : माल हादसे में डूब रहे लोगों को बहादुरी से बचाने वाले युवकों काे मंच पर बुलाकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सम्मानित किया जबकि उन युवकों में कुछ बहादुर वे भी रहे जिन्हें बैठक में एंट्री ही नहीं मिली।
इस बात से नाराज युवक प्रशासनिक बैठक के बाहर ही इंतजार करते रह गये। तरीफुल इस्लाम, फरीदुल इस्लाम समेत कई युवकों ने सीएम की बैठक में नहीं बुलाये जाने पर नाराजगी जतायी। तरीफुल तथा फरीदुल का कहना था कि नदी में छलांग लगाकर 10 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला था। इस कार्य के लिए विभिन्न संस्थाओं की ओर से हमें सम्मानित भी किया गया था। हमारी उम्मीद थी कि हमें भी यहां बुलाया जाएगा मगर ऐसा नहीं हुआ। इन युवकों में स्वरूप मैत्र भी थे, जिन्होंने बताया कि मैं लोगों की जान बचाने से लेकर सर्च ऑपरेशन तक में शामिल था। डूब रहे लोगों को बचाने के दौरान मेरी हथेली में चोट आयी थी। मेरी हथेली का घाव जैसे-जैसे सूख रहा है लोग हमें भूलते जा रहें हैं। सीएम तक हमारा नाम तक नहीं गया, जिसकी वजह से आज हम बाहर इंतजार कर रहे हैं। मो. मानिक ने बताया कि सीएम ने हमें 1 लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान कर मनोबल बढ़ाया है। हमें सिविक वॉलंटियर में नौकरी दी हालांकि मुख्यमंत्री से हमने होम गार्ड या फिर सिविल डिफेंस में नौकरी देने का अनुरोध किया है। सुनगाछी निवासी मनोज मुंडा ने कहा कि लोगों को बचाया मगर दुख भी है कि कई लोगों को हम बचा नहीं पाए।

Visited 51 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

चीनी निमोनिया की हुई दिल्ली में एंट्री ? स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा…

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बीते हुए अभी कुछ ही समय हुए है। इस बीच चीन में फिर एक बार रहस्यमयी निमोनिया बीमारी फैल रही आगे पढ़ें »

Google ने लॉन्च किया Gemini AI, ChatGPT को देगी टक्कर

 नई दिल्ली:   दुनिया में AI बेस्ड चैटबॉट बड़ी तेजी से फैल रहा है। हर बड़ी टेक कंपनी और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के बीच एआई टूल लॉन्च आगे पढ़ें »

ऊपर