एसएससी मामले में ईडी गयी अलीपुर जेल, अर्पिता से पूछा और कैश कहां है ?

इलेक्ट्राॅनिक उपकरणाें के बारे में भी पूछा गया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एसएससी मामले में ईडी की टीम को और कैश मिलने की उम्मीद है। नये कुछ तथ्य मिलने के बाद ईडी की टीम ने मंगलवार को अलीपुर जेल जाकर पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी से घंटों पूछताछ की। ईडी ने इसके लिए कोर्ट से अनुमति ले ली थी। अर्पिता से एसएससी भ्रष्टाचार मामले में ईडी के तीन अधिकारियों ने पूछताछ की। ईडी के अधिकारी सुधार गृह में कुछ कागजात लेकर गये थे और इसी संबंध में अर्पिता से उन्होंने पूछताछ की। इसके अलावा कहीं और भी कैश छिपाये गये थे क्या, इस बारे में भी ईडी की टीम ने और कई सवाल किये। टीम में महिला अधिकारी भी थीं। जांच अधिकारी एसएससी भ्रष्टाचार मामले में अधिक जानकारी चाहते हैं। ईडी द्वारा एसएससी भ्रष्टाचार मामले में कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त किए गए थे। उनकी फॉरेंसिक जांच की गई है और रिपोर्ट भी आ गई है। अब ईडी के अधिकारी पार्थ चटर्जी की ‘करीबी’ अर्पिता से और जानकारी मांग रहे हैं। अर्पिता को ईडी ने 23 जुलाई को गिरफ्तार किया था। उन्हें ईडी की हिरासत में भेज दिया गया है। 5 अगस्त को ईडी की विशेष अदालत ने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। तब ईडी ने आरोपी से पूछताछ के लिए सुधार गृह में जाने के लिए आवेदन किया था। उस दिन आवेदन को मंजूरी दी गई थी।
अपनी मां के बारे में पूछ रही है अर्पिता
अर्पिता ने अधिकारियों से अपनी मां के बारे में पूछा। वह जानना चाहती है कि मां कैसी है, मां का अब कैसे ख्याल रखा जा रहा है, उनका स्वास्थ्य कैसा है। पार्थ और अर्पिता को 18 अगस्त को ईडी की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। 22 जुलाई को ईडी ने पार्थ के नाकतल्ला स्थित उनके आवास पर छापा मारकर गिरफ्तार किया था। पूछताछ के बाद अर्पिता के टालीगंज स्थित आवास पर ईडी की टीम पहुंची थी। फिर वहां जो हुआ उसने बंगाल की राजनीति में भूचाल मचा दिया। वहां अर्पिता के फ्लैट की अलमारी से 21 करोड़ 90 लाख रुपये नकद और 79 लाख रुपये के जेवर व मोबाइल फोन बरामद किए गए थे। इसके बाद अर्पिता को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में उनके बेलघरिया स्थित आवास से 28 करोड़ 90 लाख रुपये नकद भी बरामद किए गए। कुल मिलकर इस मामले में अब तक 50 करोड़ से अधिक की संख्या में कैश की जब्ती हुई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर