मवेशी तस्करी मामले में ईडी ने राजीव के बाद अब मलय पिट को किया तलब

अब तक 5 से 6 बार दिल्ली में हो चुकी है पूछताछ
अधूरे सच से परेेशान हुए अधिकारी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मवेशी तस्करी मामले में दिल्ली में ईडी अधिकारियों ने अनुब्रत मंडल के करीबी राजीव भट्टाचार्य के बाद मलय पिट से घंटों पूछताछ की। सूत्रों का कहना है कि ईडी अधिकारी अब इनके अधूरे सच से परेशान हो चुके हैं। मलय पिट से दो बार पूछताछ हुई तो तो राजीव भट्टाचार्य से यह छठवीं बार थी। आरोप है अनुब्रत मंडल के करोड़ों रुपये कैश को इन दोनों ने अपने व्यवसाय में निवेश किया था। ये रुपये मवेशी तस्करी के थे, ऐसा दावा ईडी अधिकारी कर रहे हैं। आरोप है कि अनुब्रत मंडल के रिश्तेदारों का मलय पिट के ट्रस्ट के साथ करोड़ों रुपये का लेन-देन था। केंद्रीय एजेंसी का अनुमान है कि यह पैसा मलय के निजी मेडिकल कॉलेजों में लगाया गया है। ईडी उक्त ट्रस्ट के नेता मलय पीट से पैसे का स्रोत जानना चाहता है। केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों के पास कथित तौर पर कई दस्तावेज और बैंक स्टेटमेंट हैं। इसलिए वे मलय पिट से पूछताछ करना चाहते हैं। ईडी कुछ दिनों के अंदर अनुब्रत को दिल्ली लेकर जा सकती है। ईडी उनसे पूछताछ करना चाहती है। इससे पहले केंद्रीय जांच एजेंसी अनुब्रत के करीबी लोगों के बयान लेना चाहती है। उसके बाद उनके बयान के साथ मैच करना चाहते हैं। इस मामले में सीबीआई पहले भी अनुब्रत के करीबी मलय से दो बार पूछताछ कर चुकी है। अनुब्रत मंडल की बेटी, बॉडीगार्ड सहगल हुसैन के साथ-साथ उनके कर्मचारियों के खातों को नहीं छोड़ा गया था। केंद्रीय जांच एजेंसी के मुताबिक, कर्मचारियों का मासिक वेतन भले ही छोटा हो, लेकिन कई बार इन खातों के जरिए लाखों रुपये का लेन-देन किया गया है। क्या बीरभूम में व्यापारियों और उनके कर्मचारियों के नाम पर कोई संपत्ति खरीदी गई थी, इसकी भी जांच की जा रही है। इसी सिलसिले में बुधवार को ईडी ने अनुब्रत के करीबी कारोबारी राजीव भट्टाचार्य से फिर ईडी की टीम ने पूछताछ की। पांच दिन में 50 घंटे से ज्यादा पूछताछ के बाद भी ईडी का दावा है कि अभी ये व्यवसायी सच छिपा रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि आखिरकार बुधवार की रात 8 बजे के बाद पूछताछ के बाद राजीव भट्टाचार्य को बीरभूम लौटने की इजाजत मिली। ईडी के सूत्रों के अनुसार राजीव से अनुब्रत की बेटी सुकन्या के साथ लंबी पूछताछ के दौरान वित्तीय लेनदेन के बारे में पूछताछ की गई थी। इस मैराथन पूछताछ से कई सनसनीखेज जानकारी सामने आई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए लागू होने से कोई नहीं रोक सकता : शुभेंदु

कहा, साबित करें ​कि मैंने सीएम के पैर छूए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में सौजन्यता की राजनीति को भूलते हुए शनिवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु आगे पढ़ें »

हाई कोर्ट ने खड़े किए हाथ, कहा : सुप्रीम कोर्ट जाएं

हीरा की रद्दगी और रेरा की बहाली से जुड़ा एक उलझा हुआ सवाल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल चार मई को पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर