अमिर खान की गिरफ्तारी पर ईडी की है पैनी नजर

लुक आउट नोटिस जारी करने की थी तैयारी
ईडी की टीम भी लेगी कस्टडी में
फिलहाल वेट एंड वाच की स्थिति सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ईडी की टीम की गार्डनरिच में एक फ़र्ज़ी गेमिंग ऐप के मालिक अमिर खान की गिरफ्तारी पर पैनी नजर है। कोलकाता पुलिस की पीसी समाप्त होने के बाद ईडी की टीम उसे अपनी कस्टडी में ले सकती है। उल्लेखनीय है कि ईडी की टीम छापामारी कर 17.32 करोड़ कैश ज़ब्त किए गये थे। इसके बाद से ही मुख्य अभियुक्ता फरार था। ईडी की टीम की प्लानिंग थी कि दुर्गापूजा के बाद मुख्य अभियुक्त आमिर ख़ान के ख़िलाफ़ लुक आउट सर्कुलर नोटिस करे लेकिन अब ईडी की टीम कोर्ट से अपील करेगी कि कोलकाता पुलिस अभियुक्त की कस्टडी उन्हें सौंप दे। गेमिंग ऐप की आड़ में करोड़ों की ठगी करनेवाले आम‌िर खान की गिरफ्तारी कोलकाता पुलिस के लिए एक बड़ी कामयाबी है। सर्वप्रथम यह मामला कोलकाता पुलिस ने ही दायर किया था। इसके बाद ईडी की टीम ने इस मामले में कार्रवाई की। कोलकाता पुलिस के एंटी बैंक फ्रॉड सेक्शन के अधिकारियों ने यूपी के गाजियाबाद के नामी आवासन से उसे पकड़ा है। 15 फर‍वरी 2021 को पार्क स्ट्रीट थाने में फेडरल बैंक की ओर से आमिर खान के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। घटना के बाद से वह फरार था। उसे ट्रांजिट रिमांड पर कोलकाता लाया गया है। यहां बताते चले कि यह मामला उस वक्त सामने आया जब ईडी की टीम ने गार्डनरिच, मोमिनपुर, पार्क स्ट्रीट व न्यू टाउन आदि 6 स्थानों पर एक साथ छापामारी कर 17.32 करोड़ रुपये बरामद किये थे।
विदेश से भी है अभियुक्त का कनेक्शन
ईडी की टीम को छानबीन में यह जानकारी मिली है कि अभियुक्त का धंधा दुबई व अन्य देशों में फैला हुआ था। पहले ग्राहकों को अधिक रुपया जीतने का लालच देकर उनसे इस गेमिंग ऐप में निवेश कराया जाता था और जब ग्राहक द्वारा काफ़ी अधिक रुपये निवेश कर दिए जाते थे तो फिर सर्वर से डिलिट कर सब रुपए हरप लिए जाते थे और ये रुपये विदेशों में निवेश किये जाते थे। ईडी की टीम को यह आशंका है कि उसके अलावा कई अन्य प्रभावशालियों के भी इसमें लिंक हाे सकते है। फिलहाल ईडी की टीम वेट एंड वाच की स्थिति में हैं। ईडी की टीम देख रही है कि कोलकाता पुलिस आखिर इस मामले में क्या कार्रवाई करने जा रही है। इसके बाद ईडी की टीम अपनी कार्रवाई शुरू करेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर