तापस से पूछताछ के बाद ईडी को मिले कुछ और सुराग

बढ़ रहा है एसएससी घोटाले का दायरा
एसएससी से जुड़े पूर्व मंत्री से लेकर अधिकतर बड़े -छोटे अधिकारी हैं सलाखों के पीछे
अभी भी दर्जन भर लोगों का बयान बाकी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एसएससी मामले में ईडी की टीम को कई और सुराग मिले हैं। मानिक भट्टाचार्य के करीबी तापस मंडल से हुई पूछताछ में ईडी की टीम को कई नयी जानकारियां हासिल हुई है। एक तो छात्रों से हजारों रुपये लेकर इन अभियुक्तों ने करोड़ों की संपत्ति बनायी। इसमें आखिर इतने रुपये देने क्यों पड़े, तापस मंडल ने ईडी की टीम को सब कुछ बता दिया। ईडी को उन्होंने बताया कि नियमानुसार रजिस्ट्रेशन फीस केवल 300 रुपये तय है, लेकिन 5 हजार रुपये उनसे लिये गये। इन सभी छात्रों से कुल 20 करोड़ 74 लाख रुपये की वसूली हुई थी, जो सीधे मानिक भट्टाचार्य के पास गया। तापस ने कहा कि इस पैसे का लेनदेन उनके महिषबथान कार्यालय में किया गया था।
किसके पास कितनी संपत्ति ब्योरा निकालने का काम जारी
ईडी की टीम सभी अभियुक्तों का ब्योरा निकाल रही है। चाहे वह मानिक भट्टाचार्य हो, या एस पी सिन्हा या फिर कल्याणमय गांगुली, इनकी संपत्ति का ब्योरा ईडी के पास है। इस मामले में उनकी संपत्तियों का पता लगाने का काम जारी है। वहीं ईडी की टीम ने इससे पहले पार्थ चटर्जी की 48 करोड़ की अटैचमेंट में एफडी, फार्म हाउस जमीन के पेपर, फ्लैट आदि अटैच कर ली है। एसएससी मामले में सीबीआई और ईडी दोनों एक साथ एक्शन में है। यहां बताते चले कि ईडी की टीम ने अपनी पहली चार्जशीट में कहा था कि इन अभियुक्तों के खिलाफ गवाही देने के लिए तैयार 43 लोगों के नाम हैं जो कि ये साबित कर सकते हैं कि उन्होंने इस मामले में धन लिये हैं और इस कांड में लिप्त हैं। इसके अलावा दर्जनों लोगों का बयान लेने का कार्य जारी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

​बिल नहीं भरा तो अस्पताल ने शव देने से किया मना

हुगली : चंदननगर के एक नर्सिंग होम में इलाजरत मरीज की मौत के बाद बिल के भुगतान को लेकर मामला इतना गरमाया कि अस्पताल प्रबंधन आगे पढ़ें »

गुजरात के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर प्रदेश भाजपा में जश्न का माहौल है। गुरुवार को सुबह से ही मुरलीधर सेन लेन स्थित आगे पढ़ें »

ऊपर