ईडी को मिली बड़ी कामयाबी, कुंतल के सारे मैसेज हुए रिकवर

मुख्य बातें
एसएससी मामले में कुंतल के आरोपों के बाद फिर आज तापस को तलब किया ईडी ने
अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जाते वक्त कुतंल ने लगाये आरोप
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एसएससी मामले में ईडी की टीम को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। शुक्रवार को गिरफ्तार हुए तृणमूल युवा नेता कुंतल घोष के मोबाइल व इलेक्ट्रोनिक दस्तावेजों से सारे मैसेज और ईमेल को रिकवर कर लिया गया है। इससे अब उनके साथ जिन-जिन लोगों ने ह्वाट्स अप और मैसेज में बातें की होंगी, उसकी जानकारी ईडी के पास पहुंच गयी है। इधर कुंतल से पूछताछ के बाद कुछ और नाम सामने आये हैं। सूत्रों की माने तो उन्होंने तापस के अलावा एक और शख्स निलाद्रि सहित अन्य का नाम लिया है। ईडी की हिरासत में चल रहे कुंतल को ईडी के अधिकारी सोमवार की सुबह सीजीओ कॉम्प्लेक्स से मेडिकल जांच के लिए बिधाननगर अस्पताल ले गए। कुंतल का आरोप है कि मिडिल मैन नीलाद्रि व तापस मंडल मिलकर धमकियां देकर उनसे रंगदारी वसूलते थे। इसकी रिकॉर्डिंग उन्होंने सीबीआई व ईडी अधिकारियों को सौंपी है। इधर ईडी की टीम ने आज मंगलवार को तापस मंडल को पूछताछ के लिए तलब किया है। उल्लेखनीय है कि तापस मंडल से पहले भी ईडी की टीम ने कई बार पूछताछ की थी। इस बार कुन्तल के आरोपों के कारण वे फिर से घेरे में आ गये हैं। इधर ईडी की टीम पहले भी उनका नाम अपनी चार्जशीट में दे चुकी है।
कुंतल का दावा
कुंतल का दावा है कि उसने सीबीआई को इस बात के दस्तावेज सौंपे हैं कि उसने तापस को कई बार पैसे दिए थे। हालांकि तापस का दावा है कि उसने कुंतल से पैसे मांगे थे, यह सच है कि पैसे कुंतल ने नौकरी चाहने वालों से लिए थे। तापस ने दावा किया कि वह नौकरी चाहने वालों को पैसा लौटाने के लिए तृणमूल युवा नेता से यह पैसा वापस चाहते हैं। ऐसे में यह गुत्थी सुलझाने के लिए आज मंगलवार को दोनों को आमने – सामने बैठाकर ईडी की टीम पूछताछ कर सकती है।
डायरी के अलावा एक नोटबुक के बारे में पूछताछ शुरू
गत शुक्रवार को ईडी की तलाशी अभियान के दौरान भले ही कुंतल घोष के यहां से कैश नहीं मिला लेकिन एक डायरी और एक नोट बुक मिली जिसमें कई हिसाब किताब लिखा हुआ है। उन कोड वर्ड को समझने के लिए कुंतल से ईडी पूछताछ कर रही है, हालांकि कुछ जानकारियां कुंतल छिपा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मंत्री जी मेरी बहू को वापस घर ले आइए…

बनगांव : ‘मंत्री जी कोशिश करेंगे तो जरूर संभव होगा, मेरी बहू जरूर घर वापस लौट आयेगी।’ यह निवेदन बनगांव अंचल के गायघाटा धर्मपुर ग्राम आगे पढ़ें »

रेडियो के जरिए लोगों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक कर रही है कोलकाता पुलिस

अगले दो महीने तक रेडियो पर चलेगा विज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता पुलिस के साइबर सेल की ओर से महानगर में विभिन्न तरह के साइबर क्राइम आगे पढ़ें »

ऊपर