दुर्गा पूजा 2022: बारिश में भी लोगों का उत्‍साह नहीं हुआ ठंडा, बल्कि…

कोलकाता: मौसम विभाग ने दुर्गापूजा के समय बारिश की पहले ही आशंका जता दी थी, जो सच भी साबित हुई है, लेकिन बारिश की वजह से पूजा दर्शनार्थियों के उत्साह में जरा भी कमी नहीं आई है बल्कि यह और बढ़ गया है। ऐसा लग रहा है, मानों इस समय बारिश और पूजा दर्शनार्थियों में प्रतिस्पर्धा चल रही है। कोई झुकने को तैयार नहीं है।

बारिश रुकते ही पंडालों में उमड़ रही भीड़

कोलकाता समेत बंगाल के विभिन्न जिलों में अभी रुक-रुककर बारिश हो रही है। बारिश के समय पूजा पंडाल जरूर खाली नजर आ रहे हैं लेकिन जैसे ही बारिश रुक रही है, वहां पूजा दर्शनार्थियों का हुजूम उमड़ पड़ रहा है। दरअसल बात यह है कि लोग दुर्गापूजा में घूमने का मजा खोना नहीं चाहते इसलिए बारिश में भी घूमने को तैयार हैं।  ऐसा इसलिए भी है क्योंकि कोरोना महामारी के कारण लोग पिछले दो साल ठीक से घूम नहीं पाए। 2020 में तो कलकत्ता हाई कोर्ट ने आखिरी वक्त में पूजा पंडालों में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। पिछले साल भी कोरोना का असर था इसलिए बहुत से लोग घूमने नहीं निकले थे। लेकिन, इस बार कोरोना महामारी पूरी तरह नियंत्रण में है इसलिए बच्चे-बड़े, सभी कमर कसकर तैयार दिखें। पिछले दो साल बड़े पैमाने पर दुर्गापूजा का आयोजन भी नहीं हुआ था, लेकिन इस बार कोलकाता व विभिन्न जिलों में बेहद बड़े व आकर्षक पंडाल तैयार किए गए हैं, जिन्हें देखने का मौका लोग गंवाना नहीं चाहते हैं। इसलिए बारिश में छाता लेकर निकल पड़े हैं। महासप्तमी के बाद महाअष्टमी के दिन भी कोलकाता व विभिन्न जिलों में बारिश हो रही है लेकिन इसके बावजूद भीड़ कम नहीं है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

किचन में इन नियमों के साथ रखें मां अन्नपूर्णा की तस्वीर, बदल सकती है आपकी तकदीर

कोलकाता : हिन्दू धर्म में मां अन्नपूर्णा का अत्यधिक महत्व है। मां अन्नपूर्णा को धन-धान्य की देवी माना जाता है। ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में आगे पढ़ें »

एंट्री टिकट के लिए अब नहीं लगानी पड़ेगी लाइन, एक क्लिक में मिलेगा पास

कोलकाता घूमने के लिए अब जारी होगा क्यूआर सिटी पास कीमत होगी 495 रुपये, 7 दिनों तक कर सकेंगे इस्तेमाल 21 पर्यटन स्थलों पर वैलिड होगा यह आगे पढ़ें »

ऊपर