पार्थ के मुद्दे पर भाजपा के उकसावे में न आएं, तृणमूल विधायकों को किया सतर्क

विधानसभा में भाजपा को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तृणमूल तैयार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा में तृणमूल की परिषदीय दल की बैठक में विधायकों को शीर्ष नेतृत्व ने सतर्क करते हुए कहा है कि पार्थ या अनुव्रत के मुद्दों पर भाजपा जितना भी उकसावा दे, उनकी चाल में नहीं फंसना है। शांतिपूर्ण तरीके से सदन चले, इसका ध्यान रखना है। सूत्रों के मुताबिक विधायकों से यह भी कहा गया है कि किसी की व्यक्तिगत गलती की जिम्मेदारी पार्टी नहीं लेगी। बुधवार से विधानसभा शुरू हो गयी है और सम्भवत: 24 सितंबर तक चलेगी। पहले दिन स्पीकर ने शोक संवेदना व्यक्त करके सदन को गुरुवार तक के लिए मुलतवी कर दिया। इसके बाद तृणमूल की परिषदीय दल की बैठक हुई। बैठक में सांसद सुब्रत बख्शी, मंत्री फिरहाद हकीम, शोभनदेव चट्टोपाध्याय, अरूप विश्वास व अन्य विधायक मौजूद थे।
पार्थ चटर्जी ने जो किया, उससे पार्टी का कोई सम्पर्क नहीं है। इसी विषय पर विधायक सतर्क रहें। भाजपा को जो बोलना है बोले, मगर उस पर ध्यान नहीं देना है। एकबद्ध रहना होगा।
विधायकों की 100% उपस्थिति जरूरी
इधर, संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मंत्री शोभनदेव ने कहा कि परिषदीय दल की अहम बैठक हुई। विधायकों से कहा गया है कि 100 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है। हर एक बिल पेश के दौरान तथा पास होने तक सभी सदन में बने रहें। वहीं अगर भाजपा सदस्य किसी तरह से अपशब्द कहते हैं तो हमलोग भी मुंहतोड़ जवाब देंगे। बैठक में खासकर सुब्रत बख्शी ने कहा कि विधायक के तौर पर सतर्क रहिये, पार्टी को भी सतर्क रखिये। जमीन पर उतरकर लड़ाई कीजिए। जैसे एक परिवार में अच्छे लोग रहते हैं, कुछ खराब होते हैं इसका मतलब यह नहीं कि पूरा परिवार ही खराब है। एक की वजह से पूरी पार्टी को बदनाम नहीं किया जा सकता।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चतुर्थी से महानगर की सड़कों पर सुरक्षा की कमान संभालेंगे पुलिस कर्मी

5 हजार पुलिस और 10 हजार अस्थायी होम गार्ड रहेंगे तैनात तीन शिफ्टों में काम करेंगे पुलिस कर्मी कोलकाता : कोविड काल के बाद इस साल आयोजित आगे पढ़ें »

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

ऊपर