जरा भी बीमार बच्चों को स्कूल नहीं भेजें, डॉक्टरों की सलाह

शेयर करे

कई स्कूलों में अगले महीने से परीक्षा, अभिभावक चिंतित
एडिनोवायरस का आतंक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : इस समय जो बेहद ही चिंता की स्थिति उत्पन्न किया है वो है एडिनोवायरस। बच्चों से लेकर वृद्ध को इसे लेकर सावधानी बरतने की जरूरत है। नाक बहना, बुखार, आंखों से पानी आना व लाल हो जाये तथा सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई दें तो सतर्क हो जाएं। राज्य सरकार पूरी स्थिति पर नजर बनाये हुए है तथा स्वास्थ्य विभाग ने कई​ निर्देश दिये हैं। उनमें से एक है कि बीमार बच्चों को स्कूल नहीं भेजा जाये। अगर कोई बच्चों सर्दी, खांसी या सांस लेने में परेशानी हो रही है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टरों की सलाह है कि किसी भी बच्चे को थोड़ी भी परेशानी हो रही है ताे उसे अभिभावक स्कूल नहीं भेजें। डॉक्टरों की सलाह लें। वहीं कई स्कूलों में अगले महीने से परीक्षा भी है। ऐसे में अभिभावकों में एक चिंता की स्थिति जरूर देखी जा रही है। हालांकि पैनिक नहीं होना बल्कि सावधानी बरतनी है।
2018 के बाद दोबारा लौटा एडिनोवायरस
डॉक्टरों का कहना है कि यह वायरस 2018 के बाद दोबारा लौटा है। आशंका जताई जा रही है कि इस बार की गंभीरता तीन साल पहले की स्थिति से कहीं ज्यादा होगी। उसका एक कारण निश्चित रूप से रोग प्रतिरोधन क्षमता में कमी होना है। कोविड काल में लंबे समय तक बच्चे बाहर नहीं निकले, घरों में ही थे। ऐसे में दो साल के लिए समाजीकरण से अलग-थलग पड़ गए हैं। नतीजतन रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हुई है। इसके अलावा मास्क पहनने या सैनिटाइजर के इस्तेमाल को लेकर सख्ती नहीं होने के कारण कई लोगों ने मास्क पहनना बंद कर दिया है।
इस समय अपने बच्चे की देखभाल कैसे करें
1. भीड़भाड़ वाली जगहों से जितना संभव हो सके, बच्चों को दूर रखें
2. जरूरत पड़े तो मास्क पहनाना फिर से शुरू कर दें।
3. कुछ भी खाने से पहले या बाद में हाथों को अच्छे से जरूर साफ करें।
4. शौचालय के समय विशेष रूप से स्वच्छता का ध्यान रखें
5. बुधार, सर्दी खांसी होते ही अन्य से अलग रखें, डॉक्टरों से सम्पर्क करें।

6. आक्सीजन का स्तर 94% से कम होता है तो डॉक्टर्स से तुरंत सम्पर्क करें
7. अभिभावक ध्यान रखें कि बच्चा किस तरह सांस ले रहा है यानी कहीं जोर – जोर से तो सांस नहीं ले रहा है। सांस लेते समय पेट का मुवमेंट कैसा है। अगर ऐसा हो तो डॉक्टर्स से सम्पर्क करें।
– डॉ. राहुल जैन 

Visited 215 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

नई दिल्ली: हर साल 21 जून को इंटरनेशनल योग दिवस मनाते हैं। हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा योग को विकसित किया गया
कोलकाता : मेट्रो रेलवे द्वारा चलाये जा रहे स्पेशल नाइट मेट्रो के समय को 20 मिनट कम कर दिया गया
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के पास 17 जून को हुए ट्रेन हादसे ने देशवासियों को झकझोर कर रख
कोलकाता : अगले दो से तीन घंटों में कोलकाता में हल्की बारिश होने वाली है। शहर के अधिक हिस्सों में
पटना: नीट पेपर लीक मामला पूरे देशभर में छाया हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बड़ा दावा
कोलकाता : मानसून दस्तक देने वाला है। इससे पहले इसे लेकर तैयारियों को पूरा करने का निर्देश शहरी विकास तथा
कोलकाता: मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है। पिछले कुछ दिनों से बारिश का पूर्वानुमान
पटना: नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। बिहार में आरक्षण का दायरा बढ़ाए जाने के नीतीश
नोएडा: देश के उत्तरी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। नोएडा में अलग-अलग जगहों पर बीते मंगलवार को 14
कोलकाता: बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन डेबरा में पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत हुई थी।
कोलकाता: दक्षिण बंगाल के अधिकांश हिस्सों में आज सुबह से ही आसमान में बादल मंडरा रहा है। धूप नहीं होने
नई दिल्ली: NEET परीक्षा को लेकर दायर कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान काउंसलिंग रोकने और तत्काल
ऊपर