धार्मिक आधार पर मतदाता सूची से किसी को बाहर न करें : ममता

कहा, 18 वर्ष के सभी लोगों का नाम मतदाता सूची में शामिल करें
सन्मार्ग संवाददाता
रानाघाट : मतदाता सूची को अद्यतन करने में जुटे अधिकारियों से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि वे 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर चुके लोगों को वोटर तालिका में शामिल करें और साथ ही किसी को भी धार्मिक पहचान के आधार पर इससे बाहर न करें। ममता गुरुवार को रानाघाट में प्रशासनिक बैठक को संबोधित कर रही थीं जहां उन्होंने आरोप लगाया कि ‘साजिश रची जा रही है और कुछ सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लगभग 30 प्रतिशत मतदाताओं को नयी सूची से बाहर कर दिया गया है।’
ममता ने कहा, ‘मैं अधिकारियों से अनुरोध करती हूं कि चुनाव आयोग के नियम के अनुसार सभी का नाम शामिल करें। उन्हें 18 साल की उम्र पूरी कर चुके लोगों को अवश्य शामिल करना चाहिए और धार्मिक पहचान के आधार पर किसी को भी बाहर नहीं करना चाहिए।’
मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को मतदाता सूची तैयार करने पर नजर रखने का भी निर्देश दिया, ताकि यह पड़ताल की जा सके कि कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं है। उन्होंने कहा, ‘डीएम, एसपी को उन शिविरों का औचक दौरा करना चाहिए, जहां मतदाता सूचियां तैयार की जाती हैं। विधायकों, जिला परिषद सदस्यों को भी इस पर नजर रखनी चाहिए।’ मालूम हो कि बुधवार को प्रकाशित मतदाता सूची के मसौदे के अनुसार, पश्चिम बंगाल में 7,42,88,233 मतदाता हैं, जो एक साल पहले की तुलना में 12,577 कम हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

100 दिवसीय रोजगार योजना : केंद्रीय मंत्री से मिलेंगे सुकांत व शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 100 दिवसीय रोजगार योजना के बकाया रुपये जल्द मिटाने का आश्वासन देने के लिए गत बुधवार को राज्य के पंचायत मंत्री प्रदीप आगे पढ़ें »

पहले इलाज, फिर होगी कागजी प्रकिया – ममता

कोलकाता : एसएसकेएम अस्पताल के ट्राॅमा केयर सेंटर के इंतजाम पर सीएम ममता बनर्जी ने असंतोष जताया है और साफ निर्देेश दिया है कि पहले आगे पढ़ें »

ऊपर