धर्मतल्ला बना रणक्षेत्र, चलीं लाठियां, भारी पथराव, कई घायल

पुलिस और आईएसएफ समर्थकों में हुई झड़प
आईएसएफ समर्थकों के हमले में 19 पुलिस कर्मी हुए घायल
पथराव के साथ पुलिस वाहन और कियोस्क में की गयी तोड़फोड़
आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को पुलिस ने लिया हिरासत में
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शनिवार की शाम आईएसएफ समर्थकों के प्रदर्शन को केन्द्र कर धर्मतल्ला इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। आरोप है कि पुलिस और आईएसएफ समर्थकों में जमकर झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों ने लाठी, डंडे और रॉड से पुलिस पर हमला कर दिया। पुलिस के वाहन, कियोस्क और मेट्रो चैनल में बने आउटपोस्ट में तोडफोड़ की। पुलिस ने इलाके में दर्जनों आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज कर स्थिति को नियंत्रित किया। पुलिस ने मामले में आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को गिरफ्तार किया। कोलकाता पुलिस कमिश्नर विनीत कुमार गोयल ने बताया कि शनिवार की शाम धर्मतल्ला में प्रदर्शन कर रहे आईएसएफ समर्थकों ने एक पुलिस कर्मी पर हमला कर दिया। उक्त पुलिस कर्मी को बचाने गए अन्य पुलिस कर्मियों पर भी हमला किया गया। इसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर स्थित‌ि को नियंत्रित किया। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि मामले में नौशाद सिद्दीकी सहित 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्तों के खिलाफ सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, दंगा और पथराव सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। आईएसएफ समर्थकों के हमले में कोलकाता पुलिस के डीसी सेंट्रल, डीसी साउथ, ओसी बहूबाजार, ओसी हेयर स्ट्रीट सहित 19 पुलिस कर्मी घायल हुए हैं।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार शनिवार को आईएसएफ के स्थापना दिवस के अवसर पर धर्मतल्ला में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आरोप है कि स्थापना दिवस कार्यक्रम में शामिल होने के बाद आईएसएफ समर्थक वापस लौट रहे थे तभी कुछ आईएसएफ समर्थकों ने विधायक नौशाद सिद्दीकी के नेतृत्व में सड़क अवरोध कर प्रदर्शन किया। उन्होंने भागंड़ में आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी और समर्थकों पर हुए हमले के मामले में तृणमूल नेता अराबुल इस्लाम की गिरफ्तारी की मांग पर सड़क अवरोध कर दिया। आरोप है कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस और आईएसएफ समर्थकों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ और फिर दोनों ओर से झड़प शुरू हो गयी। इसके बाद ही आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान उग्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस कर्मियों पर पथराव करने के साथ ही लाठी व डंडे से हमला किया। हमले में कई पुलिस कर्मी घाययल हो गए। बाद में भारी संख्या में पहुंचे पुलिस कर्म‌ियों ने दर्जनों आंसू गैस के गोले दागकर आईएसएफ समर्थकों को वहां से खदेड़ा। इस दौरान धर्मतल्ला इलाके में काफी देर तक वाहनों का यातायात बंद रहा। स्थिति स्वाभाविक होने के बाद फिर ट्रैफिक को चालू किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पुस्तक मेला के लिए साल्टलेक रूट में बढ़ायी जायेंगी बस सर्विसेज

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगामी 30 जनवरी से साल्टलेक के सेंट्रल पार्क में पुस्तक मेला की शुरुआत होगी। ऐसे में साल्टलेक रूट में हर बार की आगे पढ़ें »

तृणमूल सांसद शिशिर ने बेटे शुभेंदु की तारीफ की, कहा – बंगाल को राह दिखा रहा है

पुलिस पर लगाया आरोप, तृणमूल की भौंहें तनीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : तृणमूल सांसद शिशिर अधिकारी ने कांथी में राज्य पुलिस की भूमिका की आलोचना की। वहीं आगे पढ़ें »

ऊपर