कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी
जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक के बाद एक ओर जहां कुर्मी समाज के एक वर्ग ने आंदोलन वापसी की घोषणा की तो वहीं दूसरी ओर, इस घोषणा के बावजूद कुर्मियों का आंदोलन जारी रहा। इस कारण इस दिन भी कई ट्रेनें रद्द हो गयीं। गत सोमवार से कुर्मियों को पश्चिम बंगाल में एसटी का दर्जा दिये जाने की मांग पर आंदोलन चल रहा है। हालांकि उनके इस आंदोलन के कारण रेल के साथ – साथ सड़क परिवहन व्यवस्था चरमराती जा रही है। विशेषकर जिलों के यात्रियों की मुश्किलें काफी बढ़ गयी हैं।
वर्चुअल बैठक में क्या हुआ
आदिवासी विकास विभाग के सचिव संजय बंसल ने नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। कुर्मी नेताओं को लेकर हुई इस बैठक में कुर्मियों को समझाया गया कि अब तक उनके लिए राज्य सरकार द्वारा क्या कार्य किये गये हैं और आगे क्या किया जायेगा। सूत्रों के अनुसार, सीएम ने खुद पूरे विषय को लेकर केंद्र के साथ चर्चा चालू की है, इस बारे में भी कुर्मी समाज को जानकारी दी गयी। कुर्मी नेताओं की मांग थी कि पुरुलिया में जाकर आदिवासी विकास विभाग के सचिव को चर्चा करनी होगी। हालांकि बाद में वर्चुअल बैठक के लिए कुर्मी समाज के नेता राजी हो गये। अब जल्द ही नवान्न के अधिकारी उन जिलों के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे जहां ये आंदोलन चल रहा है।
हाइवे जाम होने से ट्रक ड्राइवर परेशान, दिखाया विक्षोभ
कुर्मियों के आंदोलन के कारण हाइवे पर भी जाम होने से ट्रकों की लंबी कतारें लग गयी हैं और ट्रकों में सामान खराब हो रहा है। इसके अलावा ट्रक ड्राइवरों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि भोजन के लिए उन्हें कई कि.मी. तक पैदल चलकर जाना पड़ रहा है। इन सबसे परेशान ट्रक ड्राइवरों ने शनिवार को विक्षोभ दिखाया।
अस्थायी परिवहन कर्मचारियों का विक्षोभ, नहीं मिल रही बसें
एसबीएसटीसी के अस्थायी परिवहन कर्मचारियों के विक्षोभ के कारण जिलों में जाने वाले दैनिक यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ कुर्मियों के आंदोलन और दूसरी तरह अस्थायी परिवहन कर्मचारियों के आंदोलन के कारण यात्रियों को भारी मुश्किलें हो रही हैं। इधर, धर्मतल्ला में दूरगामी बसों के टिकट काउंटरों में लोगों को टिकट नहीं मिल रहे हैं। कई घण्टों के इंतजार के बावजूद उन्हें बसें नहीं मिलने से काफी परेशानी हो रही है। एक यात्री ने कहा कि बर्दवान जाने के लिए वह 2 घण्टे से खड़े हैं, लेकिन टिकट नहीं मिल रहा। कई टिकट काउंटर बंद कर दिये गये हैं। इसी तरह दीघा गामी बस में यात्रियों की खचाखच भीड़ देखी गयी। एक यात्री ने कहा कि हल्दिया जाने के ​लिए उन्हें बस नहीं मिल रही थी जिस कारण ठसाठस भीड़ वाली बस में ही वह चढ़ गये। इसी तरह बर्दवान से आने वाले यात्रियों को भी मुश्किलें हो रही हैं। यात्री कभी बर्दवान स्टेशन गये तो कभी बस स्टैंड, लेकिन ट्रेन और बसें दोनों ही नहीं मिलने के कारण काफी परेशानी हुई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ढलाई वाली मशीन ले जा रही पिकअप वैन पलटी, 1 की मौत, 4 घायल

मिदनापुर : ढलाई करने में काम आने वाली मशीन को लाद कर ले जा रही एक पिकअप वैन के रास्ते के किनारे पलट जाने की आगे पढ़ें »

मोदी का एकमात्र विकल्प ममता : कुणाल

कोलकाता : गुजरात में भाजपा की जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि राष्ट्रीय राजनीति में मोदी का विकल्प आगे पढ़ें »

ऊपर