डेंगू का कहर, अब तक 9 मरें, मरीजों की संख्या 8500 पहुंची

स्वास्थ्य विभाग ने तैयार की स्पेशल टीमें
हर जिलों में जायेगी टीम
हावड़ा में सबसे ज्यादा मामला
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य के कई जिलों में डेंगू का कहर देखने को मिल रहा है। अब तक 9 लोगों की मौत हो गयी है जबकि मरीजों की संख्या करीब 8500 तक पहुंच गयी है। कोलकाता, हावड़ा, हुगली, मुर्शिदाबाद, जलपाईगुड़ी में डेंगू के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। गत दस दिनों में डेंगू से 5000 के करीब लोग संक्रमित हुए थे।
हर जिले में एक्सपर्ट की निगरानी टीम
राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने हर जिले में निगरानी टीम भेजने का फैसला किया है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक मच्छर जनित बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए नगर पालिका और पंचायत को सक्रिय होना होगा। हमारा लक्ष्य है कि चिकित्सा सेवाओं के माध्यम से मृत्यु को रोकना है। हेल्थ एंड सर्विसेस के डायरेक्टर डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने सन्मार्ग को बताया कि दवा, पब्लिक हेल्थ डॉक्टर, नर्सिंग अधिकारियों की स्पेशल टीमें जिले का दौरा कर स्थिति पर नजर रखेगी। टीम देखेगी कि सरकारी अस्पतालों में इलाज का बुनियादी ढांचा, फीवर क्लीनिक ठीक से चल रहा है या नहीं। अभी तक मरने वालों की संख्या 9 के करीब है। सूत्रों के मुताबिक हावड़ा में सबसे ज्यादा मामले आ रहे हैं।
किस जिले में कितने मामले
स्वास्थ्य विभाग सूत्रों के मुताबिक 6 जिलों से डेंगू के अधिक मामले सामने आ रहे हैं। हावड़ा में सबसे ज्यादा डेंगू से लोग संक्रमित हुए हैं। यहां करीब 1200 लाेगों को डेंगू हुआ। इसके बाद जलपाईगुड़ी हैं। यहां भी 1200 से थोड़ा ज्यादा डेंगू के मामले में आये हैं। उत्तर 24 परगना में 1100 के करीब, कोलकाता में डेंगू से 795, हुगली में 714, मुर्शिदाबाद में 500 लोग डेंगू से पीड़ित हैं। बात करें डेंगू से मरने वालों की तो स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 9 लोगों की मौत हुई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पार्थ के खिलाफ दाखिल चार्जशीट का तकनीकी रोड़ा

अभी इंतजार है राज्य सरकार की अनुमति का सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : टीचर नियुक्ति घोटाले में सीबीआई की तरफ से पहली चार्जशीट अलीपुर के सीबीआई कोर्ट में आगे पढ़ें »

सरकारी सुविधाएं लेते समय किया था मुफ्त इलाज का वादा

निजी अस्पतालों व नर्सिंग होमों के खिलाफ पीआईएल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सरकारी सुविधा लेते समय निजी अस्पतालों और नर्सिंग होमों ने एक निर्धारित संख्या में आम आगे पढ़ें »

ऊपर