बंगालः दिव्यांगता का सर्टिफिकेट लेने अस्पताल आये बुजुर्ग की हुई मौत

नदियाः कृष्णानगर जिला सदर अस्पताल में दिव्यांगता का सर्टिफिकेट लेने के लिए कतार में लगे 73 साल के बुर्जुग की मौत हो गई। उनकी पहचान सिमूरली निवासी स्वपन पाल के रुप में हुआ है। जानकारी के अनुसार आवेदन के आधार पर सोमवार अस्पताल से दिव्यांगता का सर्टिफिकेट मिलने वाला था, सर्टिफिकेट लेने के लिए 70-80 आवेदनकारी पहुंचे थें। जिसमें कुछ कतार में लगे थें, कुछ इधर उधर खड़े होकर काउंटर खुलने की प्रतिक्षा कर रहे थें। दिव्यांगजनों को मिलने वाला सरकारी भत्ता एवं अन्य सुविधा प्राप्त करने के लिए स्वपन पाल भी आवेदन किये थें। वह अकेले ही सिमूरली से कृष्णानगर गये थें। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार थोड़ी देर कतार में खड़ा रहने के बाद कतार से निकलकर फर्स पर बैठ गये, फिर आहिस्ता से लेट गये। उनकी हालत देख लोगों को अस्वस्थ होने का संदेह हुआ, लोग उन्हें आवाज लगाने लगे पर बुजुर्ग कोई प्रति उत्तर नहीं दे रहे थें, प्राथमिक तौर पर अनुमान है कि दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हुई है। खबर पाकर कोतवाली थाना की पुलिस वहां पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए मौर्ग में भेज दिया। उसके घरवालों को घटना की सूचना दिया गया है। उल्लेखनीय है कि अस्पताल के सिक्यूरिटी गार्ड एवं अस्पताल सुपर के बीच गार्डों के बकाया वेतन भुगतान के विवाद के चलते सुपर डाक्टर सोमनाथ भट्टाचार्य का ट्रांस्फर हो गया है, उनके स्थान पर डाक्टर देवब्रत दत्त ने चार्ज लिए है। आवेदनकारियों का आरोप है कि सुपर के ट्रांस्फर के कारण सर्टिफिकेट का काम लंबित पड़ा है, इसदिन सर्टिफिकेट देने के लिए बुलाया गया था लेकिन किसी को भी सर्टिफिकेट नहीं दिया गया। सभी को खाली हाथ ही घर लौट जाना पड़ा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

11 दिसंबर को टेट की परीक्षा, 11000 से अधिक है वैकेंसी

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि  दुर्गा पूजा के बाद दिसंबर के दूसरे सप्ताह में प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के आगे पढ़ें »

पौधे लगा रहे किसान के खेत से निकला ‘बेशकीमती खजाना’!

नई दिल्ली : एक किसान पौधा लगाने के लिए जमीन खोद रहा था तभी उसका कुदाल किसी शख्त चीज से टकराने लगी। उसने अपने बेटे आगे पढ़ें »

ऊपर