अदालत ने टीएमसी नेता अनुब्रत मंडल की जमानत अर्जी की खारिज

कोलकाता : दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को तृणमूल के नेता अनुब्रत मंडल को पश्चिम बंगाल में कथित पशु तस्करी से जुड़े धन शोधन के एक मामले में जमानत देने से इनकार कर दिया। विशेष न्यायाधीश रघुबीर सिंह ने मंडल की जमानत अर्जी खारिज करते हुए कहा कि उन्हें राहत देने का कोई आधार नहीं है। अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के विशेष लोक अभियोजक नीतेश राणा द्वारा दी गई दलीलों पर गौर करने के बाद आदेश पारित किया, जिन्होंने कहा कि आरोपी द्वारा दायर अर्जी में कोई तथ्य नहीं है। टीएमसी की बीरभूम जिला इकाई के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी सहयोगी मंडल को ईडी ने गिरफ्तार किया था। ईडी ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के तत्कालीन कमांडेंट सतीश कुमार के खिलाफ कोलकाता में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने के बाद धन शोधन का मामला दर्ज किया था। प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि कुमार, लोक सेवकों और कुछ लोगों के साथ मंडल करोड़ों रुपये के पशु तस्करी रैकेट में शामिल थे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल ही उनकी सरकार गिर गयी थी, किसी प्रकार बची

- बंगाल का बकाया रुपया नहीं दिया तो होगा आंदोलन - ममता बर्दवान : कल उनकी सरकार गिर गई थी। कुछ लोगों को फोन कर उनसे आगे पढ़ें »

राज्यपाल को लेकर भाजपा ने दी गृह मंत्रालय को रिपोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गत नवम्बर महीने में पश्चिम बंगाल के स्थायी राज्यपाल बने डॉ. सी. वी. आनंदा बोस के बारे में भा​जपा नेताओं ने सोचा आगे पढ़ें »

ऊपर