स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान तृणमूल के दो गुटों में संघर्ष

देगंगा के कयरा कदंबगाछी इलाके में फैला तनाव
उच्च नेतृत्व ने किया है आरोपों से इनकार
बारासात : बारासात अंचल के देगंगा थाना अंतर्गत देगंगा ब्लॉक के कयरा कदंबगाछी इलाके में शनिवार को तृणमूल की स्थापना दिवस पर ही तृणमूल के दो गुटों के बीच संघर्ष की घटना को लेकर इलाके में तनाव फैल गया। मिली जानकारी के अनुसार इलाके में तृणमूल नेता मफुजर रहमान की ओर से प्रति वर्ष की तरह से ही इस साल भी एक स्टेज बनाकर तृणमूल की स्थापना दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जहां पर सुबह से ही नेताओं का भाषण व अन्य कार्यक्रम चल रहा था। आरोप है कि पूर्व मंत्री पूर्णंदु बसु के भाषण देकर चले जाने के बाद ही वहां हमले की घटना घटी। मफुजर की ओर से आरोप लगाया गया है कि युवा नेता महबूब हसन ने ही अपने लोगों के साथ स्टेज पर कार्यक्रम चलने के दौरान हमला कर अशांति मचायी है। इसमें उनके कई कर्मी और समर्थक घायल हो गये। वहीं महबूब हसन ने इन आरोपों से इनकार करते हुए आरोप लगाया है कि बेवजह ही उसे बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। उसका आरोप है कि प्रतिवर्ष की तरह ही तृणमूल की स्थापना दिवस पर वह अपने कर्मियों के साथ बाइक रैली निकाल रहा था। वह रैली जब कबंदगाछी मोड़ के पास स्टेज के निकट पहुंची तो उन पर हमला कर दिया गया। बाइक पर सवार कर्मियों पर ईंट और पत्थर फेंके गये ​जिसको लेकर वे आतंकित हो उठे और वे भी खुद के बचाव में लग गये। पुलिस ने कई घायलों को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया। साथ ही भारी पुलिस बल को काम में लगाकर परिस्थितियों को नियंत्रित किया। तृणमूल के इस गुटीय द्वंद्व को लेकर तृणमूल के उच्च नेतृत्व ने आरोपों से इनकार कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चतुर्थी से महानगर की सड़कों पर सुरक्षा की कमान संभालेंगे पुलिस कर्मी

5 हजार पुलिस और 10 हजार अस्थायी होम गार्ड रहेंगे तैनात तीन शिफ्टों में काम करेंगे पुलिस कर्मी कोलकाता : कोविड काल के बाद इस साल आयोजित आगे पढ़ें »

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

ऊपर