लालन शेख की अस्वाभाविक मौत के मामले में सीआईडी ने शुरू की तूफानी कार्रवाई

सुसाइड वाले बाथरूम, पूछताछ वाले कमरे का किया निरीक्षण
हाई कोर्ट के आदेश पर पूरे कार्रवाई की हुई वीडियो रिकॉर्डिंग
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बोगतुई के मुख्य अभियुक्त लालन शेख की सीबीआई कस्टडी में अस्वाभाविक मौत की छानबीन करने के लिए कोलकाता से सीआईडी की एक और टीम रामपुरहाट पहुंची। वहां पहुंचते ही सीआईडी अधिकारियों ने तूफानी कार्रवाई शुरू की। एक ओर रामपुरहाट स्थित सीबीआई के अस्थायी कैंप में सीआईडी अधिकारी पहुंचे, वहीं सीबीआई कस्टडी के दौरान लालन शेख के साथ एक और अभियुक्त जहांगीर शेख के बारे में जानने के बाद सीआईडी की टीम उससे पूछताछ करने के लिए जेल पहुंची। यहां बताते चलें कि बोगतुई गांव में हिंसा का मुख्य आरोपी लालन सोमवार को सीबीआई की हिरासत में मृत पाया गया था। उसे मंगलवार को कोर्ट में पेश होना था। मंगलवार को जहांगीर की भी कोर्ट में पेशी की गयी थी जहां से जहांगीर को जेल हिरासत में भेजा गया था। सीबीआई ने उसकी हिरासत की मांग नहीं की थी। आरोपी लालन शेख को 3 दिसंबर को पश्चिम बंगाल-झारखंड सीमा पर एक स्थान से गिरफ्तार किया गया था। बीरभूम के रामपुरहाट में सीबीआई द्वारा स्थापित एक अस्थायी कार्यालय में उसे ‘फंदे से लटकता’ पाया गया था। इसके बाद से ही इसे लेकर ग्रामीणों ने इलाके में बवाल मचाना शुरू कर दिया।
बाथरूम में आखिर कैसे लटका लालन, फाॅरेंसिक टीम ने संग्रह किये नमूने
सीआईडी की टीम ने बाथरूम में जाकर घटनास्थल का मुआयना किया। उसी बाथरूम में शॉवर के पाइप से लालन का लटकता शव बरामद किया गया था। उसने गमछे से लटक कर आत्महत्या की थी। इस दौरान फॉरेंसिक टीम ने नमूने संग्रह किये। सीआईडी की टीम के पास कुछ सवाल हैं, जिनके जवाब तलाशने के लिए बाथरूम में उस घटना स्थल का दौरा किया गया। एक तो बाथरूम में वह कितनी देर था। उस बाथरूम में लॉक सिस्टम था या फिर नहीं। इसके अलावा पूछताछ वाले कमरे का भी मुआयना किया गया तथा कैसे वहां अभियुक्तों से पूछताछ होती थी, अधिकारी कहां बैठते थे और अभियुक्तों को कहां बैठाया जाता था, इसकी भी रिकॉर्डिंग की गयी। इस मामले में सीआईडी पर बेहद दबाव है क्योंकि एक तो इस पर हाई कोर्ट न​जर रखे हुए है तो दूसरी ओर इलाके के लोगों के सेंटीमेंट्स से जुड़ा यह मामला अब बन चुका है।
सीआईडी को चाहिए इन सवालों के जवाब
सवाल नम्बर 1. सीबीआई के वकील ने हाई कोर्ट में बताया था कि जब लालन बाथरूम गया था, तब सीबीआई का एक कांस्टेबल और एक सीआरपीएफ का जवान वहां बाहर मौजूद था। सीआईडी को जानना है कि जब वह बाथरूम में गया था तो कितने देर अंदर था, कोई आवाज हुई थी कि नहीं, और अगर हुई तब इन दोनों ने क्या एक्शन लिया ?
सवाल नम्बर 2. शॉवर पाइप को देखकर सीआईडी को संदेह है, इसलिए लालन शेख के वजन के हिसाब का भार पाइप पर लटकाकर देखा जाएगा कि क्या यह भार पाइप उठा पाता है या नहीं ?
सवाल नम्बर 3. एक और अहम सवाल यह भी है कि लालन शेख की बॉडी पर जख्म के निशान मिले हैं वह फांसी लगाने व बॉडी उतारते वक्त हो सकता है या पहले से था ? इसके अलावा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई हो रही है।
सवाल नम्बर 4. सूत्र बताते हैं कि जो अभियुक्त 9 महीने से फरार था, उसने सीबीआई कस्टडी में आने के 7 दिन के भीतर सुसाइड करने का निर्णय क्यों लिया। आखिर उस पर क्या दबाव था।
सवाल नम्बर 5. अगर लालन बोगतुई कांड का मुख्य अभियुक्त था और 9 महीने से फरार था तो उसे लेकर इतनी लापरवाही क्यों बरती गयी? ऐसे अभियुक्तों पर कड़ी नजर रखनी चाहिए थी। इन सभी सवालों के जवाब ढूंढ़ने के लिए गुरुवार को सीआईडी की टीम सीबीआई के अस्थायी कैंप में गयी थी। इसके अलावा वहां मौजूद सीसीटीवी कैमरों और पूछताछ रूम से लेकर विचाराधीन अभियुक्तों को रखने तथा बाथरूम आदि की दूरी का भी जायजा लिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

46वें अंतरराष्ट्रीय में अमेरिकी पैवेलियन कोलकाता पुस्तक मेले का उद्घाटन

कोलकाता : अमेरिकी महावाणिज्यदूत मेलिंडा पावेक ने 46वें अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले में अमेरिकी पैवेलियन का उद्घाटन किया। इस वर्ष मंडप की थीम डीईआईए (विविधता, आगे पढ़ें »

गांजा तस्करी के आरोप में अभियुक्त को 3 साल कैद की सजा

कोलकाता : गांजा तस्करी के आरोप में अदालत ने एक तस्कर को दोषीठहराते हुए 3 साल कैद की सजा सुनायी है। अलीपुर कोर्ट के अतिरिक्त आगे पढ़ें »

ऊपर