काशी की तर्ज पर बंगाल में भी गंगा आरती चाहती हैं मुख्यमंत्री

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बंगाल के कई घाटों पर गंगा आरती होती है। अब मुख्यमंत्री चाहती हैं कि काशी की तर्ज पर यहां भी भव्य गंगा आरती का आयोजन हो। सोमवार को नवान्न से सीएम ममता बनर्जी ने कोलकाता नगर निगम को शहर में गंगा आरती की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। सीएम ने कहा कि भले इसमें दाे साल का समय लगे मगर आयोजन भव्य होनी चाहिए। लोगों की सुविधाजनक होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने प्रिंसेप घाट के रख-रखाव को लेकर कोलकाता के मेयर तथा शहरी विकास तथा नगर पालिका मामलों के मंत्री फिरहाद हकीम को भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि प्रिंसेप घाट को ठीक करना होगा। वहां पौष मेला होता है। क्यों वहां रेगुलर मैंटेंस नहीं होता है। कभी सरकार, कभी मंत्री बदलते हैं मगर पॉलिसी नहीं बदलता है। क्यों ये बार – बार बाेलना पड़ता है।
ऐसा भव्य अयोजन चाहती हैं सीएम
सीएम ने कहा, मैं चाहती हूं कि यहां गंगा आरती के लिए एक जगह निर्धारित हो। विभिन्न राज्य जैसे उत्तर प्रदेश में। हमारे यहां यह सुजोग नहीं है। हालांकि पूरी व्यवस्था देखनी होगी। लोगों के इक्टठा तो दिक्कत नहीं हो। आरती अच्छे से देख पाये। भले इसे करने में दो साल का समय लग जाये। सीएम ने कहा, कि गंगा आरती का आयोजन ऐसी जगह करना चाहिए, जहां बैठने की जगह हो। लोग आरती देखने में जल्दबाजी नहीं करें, जहां मंदिर हो। जहां लोगों को महशूस हाे कि यह शांति का स्थान है। कोलकाता नगर निगम को गंगा आरती करने का निर्देश दे रही हूं। उल्लेखनीय है कि काशी की गंगा आरती विश्व विख्यात है। यहां दूर – दूर से लोग आरती में शामिल होने के लिए आते हैं।
अभी यहां – यहां होती हैं गंगा आरती
हावड़ा के घाट, कोलकाता के निमतल्ला घाट, कमरहट्टी के चार मंदिर गंगा घाट पर आरती का आयोजन होता है। गारूलिया में घाट सहित कई घाटों पर भी गंगा आरती के आयोजन की योजना चल रही है। इसी बीच सीएम का यह निर्देश आने के बाद घाटों पर गंगा आरती की तैयारी की जाने की योजना और तेजी से आगे बढ़ेगी। बता दें कि कोलकाता, हावड़ा के घाटों का सौंदर्यीकरण किया गया। कुछ घाटों पर आरती भी होती है, अब सीएम चाहती हैं कि भव्य आरती में बंगाल अन्य राज्य की तुलना में पीछे नहीं रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

संसद में अचानक महिला एमपी को पीटने लगा विपक्षी दल का सांसद

नई दिल्ली : किसी भी देश की संसद में नेताओं को एक दूसरे से बहसबाजी करते हुए अक्सर देखा जाता है। लेकिन सदन में एक आगे पढ़ें »

दोस्त ने घर आने से किया मना तो भरे बाजार उसकी पत्नी के काटे अंग-अंग

भागलपुर : भागलपुर के पीरपैंती में वीभत्स हत्या को अंजाम दिया गया। दोस्त ने घर पर आने से रोक लगा दी तो उसकी पत्नी पर आगे पढ़ें »

ऊपर