वार्ड 106 में गंदगी फैलाने वालों को पकड़ने के लिए लगाए जाएंगे सीसीटीवी : मेयर

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में डेंगू की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए मेयर फिरहाद हकीम ने स्वयं विभिन्न वार्डों का दौरा शुरू किया। बुधवार को वार्ड 82 और 73 की समीक्षा करने के बाद गुरुवार को मेयर ने कोलकाता में डेंगू से सबसे ज्यादा प्रभावित वार्ड नम्बर 106 का दौरा किया। इस दौरान एमएमआईसी देवव्रत मजुमदार और स्थानीय पार्षद अरिजित दास ठाकुर भी मौजूद थे। समीक्षा दौरे के दौरान मेयर ने उत्तर पूर्वाचल इलाके का भी दौरा किया जहां डेंगू के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। मेयर ने कहा कि चेतला और कालीघाट इलाके की तुलना में वार्ड 106 में निर्माणाधीन इमारतों की संख्या काफी कम है। हालांकि वार्ड में कई मैदानी इलाके हैं, जहां आस- पास के लोग अपने घरों से कचरा फेंकते है। मेयर ने कहा कि इस गंभीर स्थिति में भी लोग अब तक यह नहीं समझ पा रहे हैं कि उनके द्वारा फेंका जा रहा कचरा मौत का कारण हो सकता है। निगम ने कई बार स्थानीय लोगों को नोटिस भेजी पर कोई यह बताने को तैयार नहीं कि कौन गंदगी फैला रहा है। ऐसे में असल दोषियों को पकड़ने के लिए निगम कुछ महीनों के लिए मैदानी इलाकों के पास सीसीटीवी लगाएगा। गंदगी फैलाते हुए पकड़े जाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मेयर ने कहा कि कोलकाता में करीब 177 मैदानी इलाके हैं। इनमें से अधिकांश मैदानों की सफाई की जा चुकी है। हालांकि, लोग दोबारा उन मैदानी इलाकों में गंदगी कर देते हैं। निगम के पास इतने लोग नहीं जो बार बार इलाके की सफाई करते रहें।
निर्माणाधीन मकानों के लिफ्ट वेल को बालू से भर कर रखना होगा
मेयर ने कहा कि बुधवार को चेतला इलाके में समीक्षा दौरे के दौरान निर्माणाधीन इमारतों में गंदगी की स्थिति को देखते हुए निगम एक नई योजना लागू करने जा रहा है। इसके तहत सभी निर्माणाधीन इमारतों में लिफ्ट वेल को बालू से भर कर रखा जाएगा। भवन के निर्माण के समय सबसे पहले लिफ्ट वेल तैयार किया जाता है और सबसे आखिरी में लिफ्ट को लगाने से पहले उसकी मरम्मत की जाती है। ऐसे में इन वेल को लिफ्ट बैठाने के पहले तक बालू से ढक कर रखना होगा।
उत्तर प्रदेश और त्रिपुरा में डेंगू के सबसे ज्यादा मामले
डेंगू की स्थिति को लेकर भाजपा लगातर मेयर पर हमलवार है। बुधवार को अपने क्षेत्र वार्ड 82 में समीक्षा करने निकले मेयर पर भाजपा ने तंज कसते हुए कहा था कि यह कार्य उन्हें काफी पहले करने की जरूरत थी। गुरुवार को फिरहाद ने विरोधी दल के नेताओं पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश में डेंगू के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित उत्तर प्रदेश और त्रिपुरा राज्य हैं, तो क्या इससे ये मान लेना चाहिए कि इन राज्यों के नगर निकाय डेंगू से मुकाबला करने के काबिल नहीं हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

घर को लक्ष्य कर की गयी भारी बमबारी

सन्मार्ग संवाददाता दक्षिण 24 परगना : रात के अंधेरे में भांगड़ के तृणमूल नेता के घर को लक्ष्य कर असामाजिक तत्वों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। आगे पढ़ें »

‘रिश्वत’ न देने पर गायक की कार रोकने का आरोप लगा पुलिस पर

कोलकाता :‘रिश्वत’ देने से मना करने पर पुलिस पर गायक राशिद खान को परेशान करने का आरोप लगा है। गायक के पारिवारिक सूत्रों के अनुसार आगे पढ़ें »

ऊपर