गुजरात चुनाव के कारण दिखाया जा रहा सीएए : ममता

बोलीं, बंगाल में किसी की नागरिकता नहीं जाने दूंगी
मतुआ भी भारत के नागरिक हैं
सन्मार्ग संवाददाता
कृष्णनगर : गुजरात में सीएए लागू करने के केंद्र सरकार के फैसले पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर पलटवार किया है। बुधवार को नदिया के कृष्णनगर में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए ममता ने कहा ​कि चुनाव के कारण ही सीएए का इस्तेमाल किया जा रहा है, इसे लागू करने की बात कही जा रही है। बंगाल में हम सी​एए कभी लागू नहीं होने देंगे। ममता ने कहा कि यहां किसी की भी नागरिकता नहीं जाने दी जाएगी। देश में राजनीति की हवा बदल रही है। बिहार और झारखण्ड में भाजपा पावर में थी मगर अब ऐसा नहीं है। जल्द बाकी राज्यों में भी भाजपा की विदायी निश्चित है।
मतुआ भी देश के नागरिक हैं
ममता की सभा कृष्णनगर में थी जहां मतुआ सम्प्रदाय बहुल है। मतुआ की तरफ इशारा करते हुए ममता ने कहा कि मतुआ भी भारत के नागरिक हैं। इन्हें देश में रहने का पूरा अधिकार है। ममता ने कहा कि भाजपा तय नहीं कर सकती है कि देश का नागरिक कौन है और कौन नहीं है। मतुआ भी देश के नागरिक हैं। मतुआ सम्प्रदाय का बंगाल में अच्छा-खासा वोट बैंक है जो नदिया और उत्तर 24 परगना में रहते हैं।
2024 में नहीं आएगी भाजपा
चुनाव आते ही भाजपा सीएए, एनआरसी लागू करने की बातें करती है। देश की राजनीतिक स्थिति तेजी से बदल रही है। 2024 में भाजपा सत्ता में नहीं लौटेगी। भाजपा बंटवारे की राजनीति करती है। बंगाल में अलग राज्य की बात भी इसी के तहत किया जा रहा है। ममता ने कहा कि पृथक राज्य की मांग को हवा देकर भाजपा लोगों को बांटना चाहती है लेकिन बंगाल में उसकी यह मंशा पूरी नहीं होगी। बंगाल को किसी हाल में बांटा नहीं जाएगा। भाजपा उत्तर बंगाल में राजवंशी और गोरखा को भी बांटने की कोशिश कर रही है।

Visited 85 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Himachal Political Crisis: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक, CM सुक्खू ने इस्तीफे से किया इनकार

शिमला: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक जारी है। विधानसभा में आज बुधवार(28 फरवरी) को जमकर हंगामा हुआ। इस बीच BJP के 15 विधायकों को सदन आगे पढ़ें »

West Bengal Weather: रात में ठंड…दिन में गर्म, कबतक बंगाल में रहेगा ऐसा मौसम ?

कोलकाता: बंगाल में दो दिनों से हल्की ठंड महसूस हो रही है। बुधवार(28 फरवरी) को सुबह से ही धूप खिली हुई है। बीते कुछ दिनों आगे पढ़ें »

ऊपर