शादियों के सीजन में इस बार करोड़ों के व्यापार की उम्मीद

एक महीने में देश भर में 32 लाख शादियाें का अनुमान
3.75 लाख करोड़ रु. से ज्यादा के व्यापार की संभावनाएं
शादियों में भोजन का दुुरुपयोग रोकने को लेकर फैलायी जा रही जागरूकता
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : इस वर्ष दिवाली के त्योहारी सीजन में हुए जोरदार व्यापार से उत्साहित होकर कोलकाता सहित देश भर के व्यापारी अब शादी के सीजन की बिक्री में जुट गए हैं | 4 नवम्बर देवोत्थान एकादशी से 14 दिसम्बर तक लगभग 40 दिनों के शादियों का पहला चरण शुरू हो गया है जिसमें देश भर में लगभग 32 लाख शादियों का अनुमान है और इस सीजन में लगभग 3.75 लाख करोड़ रुपए से अधिक के व्यापार होने की संभावना जतायी जा रही है। कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुभाष अग्रवाला ने कहा कि पिछले वर्ष इस चरण में देश भर में लगभग 25 लाख शादियां हुई थीं तथा लगभग 3 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का व्यापार हुआ था। उन्होंने कहा कि शादियों के सीजन के अच्छे व्यापार की संभावनाओं को देखते हुए देशभर के व्यापारियों ने व्यापक तैयारियां की हैं। उन्होंने बताया कि प्रत्येक शादी का लगभग 20% खर्च वधू एवं वरपक्ष को जाता है जबकि 80% खर्च शादी को सम्पन्न कराने में काम करने वाली अन्य तीसरी एजेंसियों को जाता है, इसलिए शादियों का सीजन भी देश में एक बड़े व्यापार का रूप ले चुका है।
शादी से जुड़ी सभी चीजों के अच्छे व्यापार की संभावना
शादियों के सीजन से पहले जहां घरों की मरम्मत, पेंट, फर्निशिंग, साज सज्जा आदि का व्यापार बड़ी मात्रा में होता है, वहीं खास तौर पर ज्वेलरी, साड़ियां, लहंगे -चुन्नी, रेडीमेड गार्मेंट्स, कपड़े, फुटवियर, शादी एवं ग्रीटिंग कार्ड, ड्राई फ्रूट, मिठाइयां, फल, शादियों में इस्तेमाल होने वाला पूजा का सामान, फर्नीचर, किराना, गिफ्ट आइटम्स, खाद्यान्न, डेकोरेशन के आइटम्स, बिजली के उपयोगी सामान, इलेक्ट्रॉनिक्स तथा उपहार में देने वाली अनेक वस्तुओं आदि का व्यापार बड़ी मात्रा में प्रति वर्ष होता है। शादियों का दूसरा चरण 14 जनवरी मकर संक्रांति से शुरू होकर जुलाई 2023 तक चलेगा।
कोलकाता में बैंक्वेट हॉल्स की बुकिंग है फुल
कोलकाता के लगभग सभी बैंक्वेट हॉल्स में पूरे वेडिंग सीजन तक के लिए बुकिंग फुल हो चुकी है। इस बारे में अंबुजा नेवटिया के होलटाइम डायरेक्टर (सेल्स एण्ड मार्केटिंग) रमेश पाण्डेय ने कहा, ‘इस बार कोविड काल नहीं होने के कारण कोई गेस्ट लिमिट भी नहीं है। लोग शादियों में इस बार जमकर खर्च कर रहे हैं। ऐसे में पूरे वेडिंग सीजन तक के लिए 1 साल पहले ही सभी बैंक्वेट हॉल में बुकिंग फुल हो चुकी है। सॉल्टलेक में रॉयल बंगाल, उपहार में वर्दे विस्ता, उट्टालिका, ईको स्पेस सभी बैंक्वेट हॉल फुल हो चुके हैं।’
भोजन का दुरुपयोग रोकने को किया जा रहा जागरूक
शादियों में भोेजन का दुरुपयोग रोकने को लेकर कई संस्थाओं की ओर से आये दिन जागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं। हाल में कोलकाता का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें देखा गया था कि महिला शादी का बचा हुआ खाना लेकर स्टेशन पर आयी है और बचे खाने को उसने जरूरतमंदों में खिलाया था। अब श्रीभूमि उड़ान की ओर से भी पहल की गयी है। संस्था की ओर से लक्ष्मण अग्रवाल ने बताया कि उनके द्वारा विभिन्न स्थानों पर होर्डिंग लगाये गये हैं। इनमें लिखा है, ‘इतना ही लो थाली में कि व्यर्थ न जाये नाली में।’ उन्होंने कहा कि संस्था का उद्देश्य है कि लोगों को जागरूक किया जाये ताकि शादियों व अन्य समारोह में लोग इतना ही भोजन अपनी थाली में लें जितना वे खा सकें। जूठा छोड़कर अन्न का अपमान न किया जाये, इसे लेकर संस्था द्वारा जागरूक किया जा रहा है। लेकटाउन में कई बैंक्वेट्स द्वारा भी शादियों के समय ये होर्डिंग लगाकर जागरूकता फैलायी जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बीमारियों को दूर रखता है आपके किचन में रखा लहसुन, जानिए चमत्कारी लाभ

नई दिल्ली : लहसुन में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इससे शरीर में हो रहे दर्द को कम करने में मदद मिलती है। आगे पढ़ें »

कल कांथी में होगी अभिषेक बनर्जी की सभा, एक लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य

पूर्व मिदनापुर : पूर्व मिदनापुर जिले के कांथी में 3 दिसंबर को होने वाली अभिषेक बनर्जी की जनसभा में टीएमसी की ओर से करीब एक आगे पढ़ें »

ऊपर