बंगाल में पंचायत चुनाव से पहले खूनी रंजिश, तृणमूल नेता की गोली मार कर हत्या

तृणमूल नेता पर फेंके गये बम, चलाई गई गोलियां
मुर्शिदाबाद : मुर्शिदाबाद के नाओदा में नदिया जिले के नारायणपुर-2 ग्राम पंचायत प्रधान व प्रखंड अध्यक्ष मोतीरुल शेख (48) की हत्या कर दी गई। गुरुवार शाम तृणमूल नेता को निशाना बनाकर बम और गोलियां चलाई गईं। जानकारी के अनुसार तृणमूल नेता को गंभीर हालत में पहले आमतला अस्पताल ले जाया गया। वहीं उनकी हालत बिगड़ने पर उन्हें मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। गौरतलब है कि मोतीरुल शेख का बेटा मुर्शिदाबाद के मुहम्मदपुर के अल-अमीन मिशन का छात्र है। वह अपने बेटे से मिलने नाओदा आए थे। उल्लेखनीय है कि मुर्शिदाबाद जिला के नाओदा थाना क्षेत्र के शिवनगर टिकाटा क्षेत्र के जमालपुर प्राथमिक विद्यालय के निकट इलाके में शाम के समय तृणमूल नेता पर बम और गोलियां चलाई गईं। हमले में मोतीरुल को छह गोलियां लगी हैं। स्थानीय लोग उन्हें गंभीर हालत में उठाकर अस्पताल ले गये। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। हालांकि, हत्या के आरोप में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया।
तृणमूल के अन्य गुट पर लगा हत्या का आरोप
नदिया जिला युवा तृणमूल के महासचिव साजीजूल हक उर्फ मिठू ने नदिया व नाओदा के तृणमूल के अन्य गुट के सदस्यों पर हत्याकांड का आरोप लगाया है। आरोप है कि नारायणपुर-2 ब्लॉक तृणमूल सदस्य, नाओदा के प्रखंड अध्यक्ष हबीब शेख व नदिया जिला परिषद टीना भौमिक शाहा ने मिलकर मोतीरुल शेख पर बम व गोलियां चलाकर उनकी हत्या कर दी। उन्होंने कहा कि हबीब शेख गुंडों व अपराधियों का पालन-पोषण करते हैं। साजीजूल ने सीधे तौर आरोप लगाया कि पिछले विधानसभा में भारी अंकों से विजय प्राप्त करने के लिए हिंसा के कारण उनकी हत्या कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी मोतीरुल शेख को जान से मारने की धमकी दी गई थी। थाना में शिकायत के बाद भी पुलिस ने उनकी सुरक्षा नहीं बढ़ाई। अपने रास्ते का कांटा को हटाने के लिये मोतीरुल शेख की हत्या कर दी गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शुभेंदु अधिकारी को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि शुभेंदु अधिकारी को हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। हाई कोर्ट ने राज्य के आगे पढ़ें »

आजम खान के रामपुर में बदल गया गेम, बीजेपी हुई आगे

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश की चर्चित रामपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सियासी तस्वीर बदलती दिख रही है। 28वें राउंड की काउंटिंग के आगे पढ़ें »

ऊपर