दूसरे राज्यों से आने वाले धूलकणों को रोकने के लिए सीमाई इलाकों में लगेंगे बड़े पेड़

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : उत्तरी भारत से आने वाली सर्द हवाओं के साथ ही पश्चिम राज्यों से पश्चिम बंगाल में प्रवेश करने वाले धूलकणों के कारण राज्य में ठण्ड के मौसम में प्रदूषण बढ़ जाता है। इस पर काबू करने के लिए वन विभाग के साथ मिलकर योजना तैयार की जा रही है। इस बारे में राज्य के पर्यावरण मंत्री डॉ. मानस रंजन भुइयां ने कहा कि वन विभाग के साथ मिलकर चर्चा की जा रही है कि ठण्ड के मौसम में पश्चिमी राज्याें से जो धूल कण पश्चिम बंगाल में प्रवेश करते हैं, वे स्थायी हो जाते हैं। वहीं उत्तरी भारत से हवा के कारण भी इन धूलकणों का घनत्व बढ़ जाता है जिससे जाड़े में राज्य में प्रदूषण अधिक होता है। ऐसे में वन विभाग से बात कर राज्य के सीमाई इलाकों में पौधारोपण अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्लांटेशन ग्रीनरी​ वॉल बनाया जायेगा जिसके तहत लंबे-लंबे पेड़ बनाये जायेंगे। ऐसे पेड़ लगाये जायेंगे जिनकी शाखा व प्रशाखा बड़ी हो ताकि ठण्ड में प्रदूषण स्तर को कम किया जा सके। मंत्री ने कहा कि बिहार, झारखण्ड, ओडिशा की सीमाओं के साथ ही उत्तरी भारत की सीमा पर पेड़ लगाये जायेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नामी कंपनी के लेबर लगाकर नमक बेचने के आरोप में व्यवसायी गिरफ्तार

बारासात : बारासात जिला डीईबी की टीम ने मिली गुप्त सूचना पर शनिवार को देगंगा के कुलीनहाट इलाके में एक नमक गोदाम में छापामारी अभियान आगे पढ़ें »

जिसे पकड़ता हूं उसे खत्म करके छोड़ता हूं : शुभेंदु

कोलकाता : डायमंड हार्बर से तृणमूल पर जमकर बरसे भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी। कहा कि दिसंबर में खेला होगा। पंचायत चुनाव के बाद बांटेंगे लड्डू। आगे पढ़ें »

ऊपर