एसएससी घोटाले में सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, दो गिरफ्तार

शांति प्रसाद सिन्हा और अशोक साहा पकड़े गये
पार्थ चटर्जी के हैं दोनों करीबी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई ने एसएससी भर्ती घोटाले में पहली बार गिरफ्तारियां की हैं। एसएससी के दो पूर्व सलाहकारों शांति प्रसाद सिन्हा और अशोक साहा को गिरफ्तार कर लिया गया है। ये दोनों पार्थ चटर्जी के करीबी माने जाते हैं। शांति प्रसाद एसएससी की पांच सदस्यीय समिति के कंवेनर तथा अशोक साहा वेस्ट बंगाल सेंट्रल स्कूल सर्विस कमिशन के तत्कालीन सचिव थे। इन दोनों को आज यानी गुरुवार को अदालत में पेश किया जायेगा।
इस मामले में सीबीआई द्वारा दर्ज की गयी प्राथमिकी में पहला नाम शांति प्रसाद का तथा चौथे स्थान पर अशोक का नाम था। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ में विसंगतियां मिलने पर दोनों को गिरफ्तार करने का फैसला किया गया। हाई कोर्ट द्वारा नियुक्त बाग कमेटी की रिपोर्ट में एसएससी के पूर्व संयोजक शांतिप्रसाद व एसएससी के पूर्व सचिव अशोक साहा का नाम था। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, ये दोनों जांचकर्ताओं को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे तथा जानकारी छिपा रहे थे, इसलिए शांति प्रसाद और अशोक को गिरफ्तार किया गया। आरोप है कि इन लोगों ने ग्रुप सी की नियुक्ति में भारी धांधली की। यह घोटाला पैनल की मियाद खत्म होने यानी 18 मई 2019 के बाद किया गया। असली उम्मीदवारों के स्थान पर गैर योग्यता वाले उम्मीदवारों की भर्ती की गयी थी। सीबीआई ने केस नम्बर आर सी 0102020 ए 0005 में इन दोनों को गिरफ्तार किया है। इनसे कई बार पूछताछ की गयी लेकिन संतोष जनक जवाब नहीं मिलने पर अंत में इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उल्लेखनीय है कि इससे पहले, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राज्य के मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी सहयोगी अर्पिता मुखोपाध्याय को भर्ती भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किया था। ईडी की तलाशी के दौरान अर्पिता के टालीगंज और बेलघरिया स्थित दो फ्लैटों से करीब 50 करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए थे। जांचकर्ताओं ने कई दस्तावेजों से पार्थ-अर्पिता से जुड़ी कई संपत्तियों का भी पता लगाया है। जब एसएससी भर्ती में भ्रष्टाचार के आरोप लगे तो शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने एक सलाहकार समिति का गठन किया था। शांतिप्रसाद उस समिति के प्रमुख थे। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक इस सलाहकार समिति के जरिए फर्जी नियुक्तियों की सिफारिश की गई थी। इसलिए सीबीआई द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकी में पहला नाम शांतिप्रसाद का है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल का सबसे बड़ा मल्टिलेवल कार पार्किंग बन रहा अलीपुर में

 * एक साथ 300 से अधिक कार पार्किंग की क्षमता * इसी महीने उद्घाटन की संभावना * कार, 2 व्हीलर से लेकर बसों की भी हो सकेगी आगे पढ़ें »

किचन में इन नियमों के साथ रखें मां अन्नपूर्णा की तस्वीर, बदल सकती है आपकी तकदीर

कोलकाता : हिन्दू धर्म में मां अन्नपूर्णा का अत्यधिक महत्व है। मां अन्नपूर्णा को धन-धान्य की देवी माना जाता है। ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में आगे पढ़ें »

ऊपर