‘बंगाल दलालों और लुटेरों के लिए नहीं, माकपा शांति और न्याय के लिए लड़ेगी’

कोलकाता : माकपा के राज्य महासचिव मोहम्मद सलीम ने जोर देकर कहा कि उनकी पार्टी करीब एक दशक के बाद फिर से ताकतवर होकर उभर रही है और पश्चिम बंगाल में शांति और न्याय स्थापित करने की लड़ाई छेड़ेगी। माकपा की युवा और छात्र इकाई द्वारा आयोजित रैली को संबोधित करते हुए सलीम ने अगले साल राज्य में होने वाले पंचायत चुनाव के लिए युद्धस्तर पर तैयारी करने का आज़्वान किया। उन्होंने कहा कि 10-11 साल खोल में रहना बहुत होता है, नयी पीढ़ी जग रही है और बंधनों से मुक्त होना चाहती है। गौरतलब है कि माकपा नीत वाम मोर्चे को वर्ष 2011 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस से हार मिली थी। वाम दल लगातार 34 साल से बंगाल पर शासन कर रहे थे। माकपा पोलित ब्यूरो सदस्य ने कहा कि पार्टी संगठित तौर पर कानून के दायरे में रहकर लड़ाई लड़ेगी।
वामपंथी पार्टी की युवा इकाई ‘डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया’ (डीवाईएफआई) और छात्र ‘संगठन स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया’ (एसएफआई) संयुक्त रूप से सियालदह, हावड़ा स्टेशन और पार्क स्ट्रीट से जुलूस निकाला और इस दौरान वे ‘‘ अनीस खान (छात्र नेता) को न्याय दो’ के नारे लगा रहे थे। साथ ही रोजगार और उचित शिक्षा की मांग कर रहे थे। यह जुलूस एस्पलेनेड आकर रैली में तब्दील हो गयी। सलीम ने दावा किया कि पंचायत क्षेत्र में रह रहे लोगों की शिकायतों के लिए माकपा द्वारा शुरू की गई हेल्पलाइन को अपार सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि हम और कंप्यूटर खरीद रहे हैं और अतिरिक्त स्वयंसेवकों को शिकायत पंजीकृत करने के लिए संलग्न कर रहे हैं। सलीम ने मंगलवार को ‘इंसाफ रैली’ में शामिल होने वालों से अपील की कि जब वे अपने-अपने इलाकों में लौटे तो इस हेल्पलाइन नंबर का प्रचार प्रसार करें। उन्होंने कहा कि पार्टी हिंसा के खिलाफ शांति के लिए, न्याय के लिए, रोजगार के लिए और शिक्षा व्यवस्था बचाने के लिए लड़ रही।
सलीम ने कहा कि बंगाल दलालों, लुटेरों या सांप्रदायिक शक्तियों के लिए नहीं है बल्कि यह अन्याय के खिलाफ लड़ाई की भूमि है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज से कोलकाता में चलेगी डबल डेकर बस

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गा पूजा के समय काफी लोग पूजा पण्डालों की भीड़ में नहीं जाना चाहते हैं। हालांकि दुर्गा पूजा के समय का कोलकाता आगे पढ़ें »

ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, खुल जाएंगे किस्मत के दरवाजे

कोलकाता : शारदीय नवरात्रि के नौ दिनों का अपना अलग महत्व है। इन 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग स्वरूपों की पूजा बड़ी ही आगे पढ़ें »

ऊपर