हावड़ा में नहीं मिल रहा है स्वास्थ्य साथी कार्ड का लाभ

लोगों ने लगाये आरोप, स्वास्थ्य विभाग ने कहा लगाये जायेंगे शिविर
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने स्वास्थ्यसाथी योजना की सुविधा के लिए हावड़ा में 113 नर्सिंग होम के नाम दर्ज करा दिए हैं, लेकिन 49 नर्सिंग होम से सुविधा नहीं मिल रही है। नतीजतन, उन नर्सिंग होम के बारे में जिला स्वास्थ्य विभाग के पास कई शिकायतें दर्ज की जा रही हैं। इतना ही नहीं मरीजों को हेल्थ कार्ड की सुविधा देने वाले 64 नर्सिंग होम पर मरीजों से पैसा वसूलने का भी आरोप लगाया है। मरीजों को इस स्थिति से निजात दिलाने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस माह अनिवार्य रूप से सभी नर्सिंग होम में प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिला स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार स्वास्थ्य साथी कार्ड वाले नर्सिंग होम में भर्ती होने के बाद नियमित रूप से तीन तरह की शिकायतें आती हैं। स्वास्थ्य साथी कार्ड की अस्वीकृति, ओवरबिलिंग और मरीज को बाहर से अतिरिक्त दवाएं खरीदने के लिए मजबूर करना। इन तीन कारणों से कई मरीजों और उनके परिजनों को नियमित रूप से परेशान होना पड़ता है। पिछले महीने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ जिले के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी की बैठक में भी इस मामले पर चर्चा हुई थी। जिला स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हेल्थ कार्ड के साथ भर्ती नहीं करने का नर्सिंग होम का तर्क यह है कि थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर या टीपीए को इस कार्ड के लिए पैसा जमा करने में समय पर पैसा नहीं मिल रहा है। उन पर लंबे समय से लाखों रुपए बकाया हैं। साथ ही, किसी भी सर्जरी से पहले और बाद में होने वाले खर्च को हेल्थ प्लान द्वारा कवर नहीं किया जाता है। साथ ही जिन नर्सिंग होम ने स्वास्थ्य साथी योजना में नामांकन कराया है, लेकिन उपलब्ध नहीं करा रहे हैं, उनका कहना है कि उचित प्रशिक्षण के अभाव में समस्या हो रही है। नर्सिंग होम द्वारा बताया गया है कि इस योजना को सक्रिय करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाने में उन्हें परेशानी हो रही है। हावड़ा के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी निताईचंद्र मंडल ने कहा कि कुछ दिन पहले हावड़ा के सभी निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम के अधिकारियों को फोन कर सूचित किया गया था कि सभी को स्वास्थ्य साथी योजना से जुड़ना चाहिए। तकनीकी कारणों से उपस्थित नहीं होने वालों के लिए जिला स्वास्थ्य कार्यालय द्वारा प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। इसके बाद अब हेल्थ कार्ड को लेकर कोई शिकायत नहीं सुनी जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वंदे भारत एक्सप्रेस पर हमला को लेकर पीआईएल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस पर हुए हमले को लेकर एक पीआईएल दायर की गई है। एडवोकेट रमाप्रसाद सरकार ने यह पीआईएल दायर की आगे पढ़ें »

प्लेटफॉर्म छोड़ 500 मीटर दूर जाकर रुकी लोकल ट्रेन

विधाननगर रेलवे स्टेशन की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की सुबह विधाननगर रेलवे स्टेशन पर लोकल ट्रेन प्लेटफॉर्म से 500 मीटर दूर जाकर रुकी। अचानक इस आगे पढ़ें »

ऊपर