बड़ाबाजार : पहले कराया पेट भर नाश्ता, फिर लूट लिया सोना व रुपये

बड़ाबाजार के तिरपाल पट्टी इलाके की घटना
सन्मार्ग संवादाता
कोलकाता :
बड़ाबाजार में इन दिनों एक शातिर ठगों का गिरोह का सक्र‌िय है। इस गिरोह के सदस्य पहले अपने टार्गेट से दोस्ती करते हैं और फिर पेट भर उन्हें नाश्ता कराते हैं। इसके बाद मौका मिलते ही शिकार के रुपये, मोबाइल सहित अन्य कीमती सामान लूटकर फरार हो जाते हैं। बड़ाबाजार में सक्रिय ऐसे ही एक गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घटना बड़ाबाजार थानांतर्गत तिरपाल पट्टी की है। अभियुक्तों के नाम दिनेश सिंह (45) और संजय सिंह (50) है। इनमें से दिनेश बिहार के आरा जिले और संजय बिहार के नवादा जिले का रहनेवाला है। अभियुक्तों के पास से लूट के कुछ सामान बरामद किए गए हैं।
क्या है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार गत 14 नवंबर को हावड़ा के शिवपुर के रहनेवाले मो.नसीम ने थाने में सोने की चेन , 10 हजार रुपये नकद और मोबाइल फोन लूट होने की शिकायत दर्ज करायी । मो.नसीम ने बताया कि वह रोजाना सुबह में हंसपुकुरिया लेन में सोना बीनने का काम करता है। रोजाना सुबह 6 से 8 बजे के बीच नालियों की पानी और सड़क की धूल की सफाई के दौरान मिलने वाले सोने के कुछ कणों को एकत्रित कर वह उन्हें वापस दुकानदारों को बेचा करता है। उसकी रोजाना 1 हजार से 3 हजार तक की कमाई हो जाती है। कुछ दिनों पहले जब वह हंसपुकुरिया में सोना बीनने का काम कर रहा था तभी दो लोग उसके पास आए और उसके बीने हुए सोने को दुकानदार से ज्यादा कीमत में खरीदने की बात कही। इसके बाद जालसाजों ने उसे 14 नवंबर की सुबह 7 बजे बड़ाबाजार गुरद्वारा के निकट मिलने के बुलाया। मो.नसीम उस दिन मिलने पहुंचा तो दोनों अभियुक्त उसे तिरपाल पट्टी की तरफ ले गए। वहां पर अभियुक्तों ने उसे पहले पेट भर कचौड़ी-सब्जी और जलेबी खिलाया और चाय पिलायी। नाश्ता करने के बाद जालसाजों ने उसे कहा कि थोड़ा आराम कर लो उसके बाद लेनदेन करेंगे। आरोप है कि जैसे ही आराम करने के दौरान मो.नसीम को नींद आयी तो अभियुक्त उसके पॉकेट से मोबाइल फोन, 10 हजार रुपये नकद, सोने की चेन सहित अन्य सामान चुराकर भाग निकले। होश आने पर मो.नसीम थाने में पहुंचा और उसने शिकायत दर्ज करायी। मामले की गंभीरता को देखते हुए बड़ाबाजार थाने के एसआई वैभव सराफ और एसआई ऋषिकेश सिंह ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला। करीब दर्जन भर सीसीटीवी कैमरे खंगालने के बाद पुलिस ने अभियुक्त संजय सिंह और दिनेश सिंह को चिन्हित किया। इस बीच गुरुवार को दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल पुलिस अभियुक्तों से पूछताछ कर पता लगा रही है कि इन्होंने अब तक कितने लोगों को अपना शिकार बनाया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

एसएससी : 21 हजार पदों पर नियुक्ति में घपले का खुलासा

सीबीआई की नयी सिट के प्रमुख ने कहा कोर्ट में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्कूलों में ग्रुप डी के पदों पर नियुक्ति घोटाले के एक मामले की आगे पढ़ें »

93 लाख नगदी बरामदगी को लेकर ममता ने भाजपा पर साधा निशाना

भाजपा को आ रहा हवाला का पैसा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जलपाईगुड़ी में एक गाड़ी से 93 लाख रुपये नगदी बरामदगी वाले मामले में सीएम ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर